Class 12 Political science MCQs CH-2 The End of Bipolarity in Hindi | अध्याय 2 द्विध्रुवीयता का अंत MCQs

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

क्या आप Class 12 के विद्यार्थी हैं और आप Class 12 Political science MCQs CH-2 in Hindi में महत्वपूर्ण MCQs के तलाश में है ?क्योंकि यह अध्याय परीक्षा के लिए काफी महत्वपूर्ण है इस अध्याय से काफी प्रश्न परीक्षा में आ चुके हैं | जिसके कारण इस अध्याय का प्रश्न उत्तर जाना काफी जरूरी है|

तो विद्यार्थी इस लेख को पढ़ने के बाद आप इस अध्याय से काफी अंक परीक्षा में प्राप्त कर लेंगे ,क्योंकि इसमें सारी परीक्षा से संबंधित प्रश्नों का विवरण किया गया है तो इसे पूरा अवश्य पढ़ें |

मैं यह लेख किस आधार पर किस आधार पर लिखा रहा हूं = मैं खुद कक्षा 12वीं का टॉपर रह चुका हूं और मुझे यह ज्ञात है कि किस प्रकार के प्रश्न Class 12 के परीक्षा में पूछे जाते हैं| वर्तमान समय में ,मैं शिक्षक का भी भूमिका निभा रहा हूं ,और अपने छात्रों को कक्षा 12वीं के महत्वपूर्ण जानकारी व विषयों का अभ्यास भी कराता हूं | मैंने यहां mcqs का लेख अपने 5 सालों के अधिक अनुभव से लिखा है | इस पोस्ट के सहायता से आप परीक्षा में इस अध्याय से इतिहास में काफी अच्छे अंक प्राप्त कर पाएंगे |

Class 12 Political science MCQs CH-2 The End of Bipolarity in Hindi | अध्याय 2 द्विध्रुवीयता का अंत MCQs

Class 12 Political science MCQs CH-2 The End of Bipolarity in Hindi | अध्याय 2 द्विध्रुवीयता का अंत MCQs
Class 12 Political science MCQs CH-2 The End of Bipolarity in Hindi | अध्याय 2 द्विध्रुवीयता का अंत MCQs

Class 12 Political science MCQs CH-2 The End of Bipolarity in Hindi | अध्याय 2 द्विध्रुवीयता का अंत MCQs

कक्षा | Class12th 
अध्याय | Chapter02
अध्याय का नाम | Chapter Nameद्विध्रुवीयता का अंत
बोर्ड | Boardसभी हिंदी बोर्ड
किताब | Book एनसीईआरटी | NCERT
विषय | Subjectराजनीति विज्ञान | Political science
मध्यम | Medium हिंदी | HINDI
अध्ययन सामग्री | Study Materialsबहुविकल्पीय प्रश्न | MCQ

स्मरणीय बिन्दु (Points to Remember)

  • 1. 1945 में दूसरा महायुद्ध समाप्त हुआ, लेकिन संयुक्त राज्य अमेरीका तथा सोवियत संघ दो महाशक्तियों के रूप में उभरे। दोनों के बीच तनावपूर्ण सम्बन्ध स्थापित हुए जिसे शीत युद्ध का नाम दिया गया। दुनिया दो- ध्रुवीय हो गई, लेकिन 1991 में सोवियत संघ के विघटन के साथ शीत युद्ध मौत गया तथा दुनिया एक ध्रुवीय हो गई।
  • 2. सोवियत प्रधानमन्त्री स्टालिन ने क्रान्ति के नियति अर्थात् साम्यवाद के विस्तार को अपनी विदेश नीति व कूटनीति का आधार बनाया। पूर्वी यूरोप के देशों में कम्युनिस्ट पार्टियों को गुप्त सहायता दी गई जिससे वे अपने राज्यों की मिली-जुली । सरकारों में शामिल हो गए। उन्होंने शासन में अपनी मजबूत स्थिति बना ली। इसी को ‘ जन लोकतन्त्र’ का नाम दिया गया. लेकिन कुछ समय बाद सारो ग्रहण करके मिली-जुली सरकारों को कम्युनिष्ट सरकारों में परिणत कर दिया। इस व्यवस्था को समाजवादी लोकतन्त्र कहा गया।
  • 3. सोयत संघ तथा जिसने सारी दुनिया में मार्क्सवाद-लेनिनवाद की विचारधारा को स्थापित करने का निश्चय किया। आश्चर्य की बात है कि इस लाल साम्राज्य का विघटन हो गया जिसके अनेक कारण बताए जा सकते हैं. जैसे- सर्वसत्तावादी व्यवस्था को विफलता, आर्थिक असन्तोष, सरकारी विभागों में भ्रष्टाचार, नस्लीय राष्ट्रवाद का उदय योग्य नेतृत्व का अभाव, मानव जी की हानि तथा पाश्चत्य उदारवाद की चोट
  • 4. सोवियत संघ के विघटन के कारण नए राज्यों को स्थापना हुई जिन्होंने स्वतन्त्र विदेश नीति अपनाकर अन्तर्राष्ट्रीय राजनीति में अपना योगदान दिया। ऐसा हो युगोस्लाविया में हुआ। 5. सोवियत शिविर में दरारें पड़ती रहीं। पहले युगोस्लाविया अलग हुआ, फिर अल्बानिया, फिर बाल्टिक गणतन्त्र (लाटविया, इस्टोनिया व लिथुआनिया) और फिर सभी गणतन्त्र (प्रान्त) अलग हो गए। सबसे बड़ा प्रान्त रूस था जो अब रूसी संघ हो गया। पूर्वी जर्मनी का पश्चिमी जर्मनी में एकीकरण हो गया।
  • 6. रूसी संघ के राष्ट्रपति एल्टसीन ने अनेक पूर्व गणतन्त्रों को मिलाकर स्वतन्त्र राज्यों का राष्ट्रकुल बना लिया। यह एक परिसंघ है जिसमें हर सदस्य को अपनी सेना अपनी मुद्रा, अपनी विदेश नीति बनाने का अधिकार है तथा वह अपनी इच्छा से परिसंघ की सदस्यता छोड़ सकता है।
  • 7. साम्यवाद के चले जाने के बाद उत्तर-साम्यवादी व्यवस्था आई रूस, बुल्गारिया, रोमानिया, चेकोस्लोवाकिया, हंगरी व पोलैण्ड तथा सोवियत संघ के पूर्व गणतन्त्रों जैसे यूक्रेन, बेलारूस, जॉर्जिया, मोल्देविया आदि में उदारवादी व्यवस्था आ गयी। कम्युनिस्ट पार्टी की तानाशाही देश में बहुदलीय प्रणाली आ गई, स्वतन्त्र चुनाव होने लगे, निजी अर्थव्यवस्था की स्थापना हुई। 
  • 8. भारत के सोवियत संघ के साथ निकट सम्बन्ध थे। उसने रूसी संघ के साथ वहाँ सम्बन्ध बनाए रखे हैं। रूसी सब हानि नियन्त्रण की रणनीति अपनाए हुए है। अतः वह भी भारत के साथ निकट सम्बन्ध बनाए रखने में रुचि रखता है।
  • 9. भारत ने सभी पूर्व साम्यवादी राज्यों से निकट सम्बन्ध स्थापित किए है क्योंकि यह उसकी विदेश नीति का एक प्रमुख लक्षण है।
  • 10. साम्यवादी देशों को ध्वस्त अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए अन्तर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष तथा विश्व बैंक ने इस शर्त पर वित्तीय सहायता दी कि वे उदारीकरण का मार्ग अपनाएँ। इसी को आघात द्वारा उपचार (शॉक थेरेपी) कहा गया।

वस्तुनिष्ठ प्रश्न (Objective Type Questions )

1. 1917 में रूस में समाजवादी राज्य की स्थापना किसने की ? 

(क) कार्ल मार्क्स 

(ख) फ्रेडरिक एंजिल्स

(ग) लेनिन

(घ) स्टालिन

2. सोवियत गुट से सबसे पहले कौन सा देश अलग हुआ?

(क) पोलैण्ड 

(ख) युगोस्लाविया

(ग) पूर्वी जर्मनी

(घ) अल्बानिया 

3. पोलैण्ड में सॉलिडेरिटी आन्दोलन का नेतृत्व किसने किया?

(क) लेच वलेसा 

(ख) ब्रेजनेव 

(ग) मार्शल टीटो

(घ) गोमुल्का

4. स्वतन्त्र राज्यों के राष्ट्रकुल की स्थापना किसने की ?

(क) गोर्बाच्योव

(ख) माओत्से तुंग

(ग) ऐल्टसीन

(घ) लेच वलेख

5. भारत व पाकिस्तान के बीच ताशकन्द का समझौता कराने में किस सोवियत नेता ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ? 

(क) स्टालिन

(ख) खुश्चेव

(ग) कोसीगिन

(घ) ब्रेजनेव

6. दूसरी दुनिया के देशों में किस प्रकार के देश आते हैं?

(क) पूँजीवादी देश

(ख) विकासशील देश

(ग) गुटनिरपेक्ष देश

(घ) साम्यवादी देश

7. ग्लासनास्ट व पेरिस्ट्रोयका के मन्त्र किसने दिए ?

(क) लेनिन

(ख) स्टालिन

(ग) खुश्चेव

(घ) गोर्वाच्योव

8. किसने सामरिक भागीदारी का सुझाव रखा ?

(क) अमरीकी राष्ट्रपति क्लिंटन

(ख) रूसी राष्ट्रपति पुतिन

(ग) भारतीय प्रधानमन्त्री वाजपेयी 

(घ) चीनी राष्ट्रपति जेमिन

9. वारसा सन्धि को सबसे पहले किस राज्य ने छोड़ा ?

(क) पोलैण्ड

(ख) युगोस्लोविया

(ग) अल्बानिया

(घ) पूर्वी जर्मनी

10. 1975 में यूरोप में सुरक्षा व सहयोग सम्मेलन कहाँ हुआ ?

(क) लन्दन में 

(ख) पेरिस में

(ग) मॉस्को में

(घ) हेलसिंकी में

11. शंघाई सहयोग संगठन में कितने देश शामिल हैं?

(क) 4 

(ख) 5

(घ) 7

12. पूर्व साम्यवादी देशों ने कौन-सी व्यवस्था अपनाई है?

(क) समाजवादी

(ख) मार्क्सवादी

(ग)- उदारवादी

(घ) फासीवाद

13. स्टालिन संविधान कब लागू हुआ ?

(क) 1936 

(ख) 1924

(ग) 1977

(घ) 1999 

14. सोवियत संघ के विभाजन के बाद रूस का प्रथम निर्वाचित राष्ट्रपति कौन था?

(क) ब्रेजनेव

(ख) येल्तसिन 

(६) गोबांच्याव

(ग) स्टालिन

15. संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति कौन है? 

(क) जॉर्ज बुश

(ख) डोनाल्ड ट्रम्प

(ग) टोनी ब्लेयर

(घ) बराक ओबामा

16. निम्नलिखित में से कौन एक शीतयुद्ध की समाप्ति का परिणाम नहीं है?

(क) एक ध्रुवीय विश्व व्यवस्था का उदय 

(ख) अमेरिका और सोवियत संघ के बीच वैचारिक युद्ध

की समाप्ति 

(ग) सी. एस. आई. का जन्म

(प्र) भारत और पाकिस्तान द्वारा परमाणु परीक्षण 

17. निम्नलिखित में कौन नाटो का सदस्य नहीं हैं?

(क) भारत 

(ख) ब्रिटेन 

(ग) फ्रांस

(घ) जर्मनी

18. निम्नलिखित में से कौन सा एक देश नाटो का सदस्य है?

(क) चीन 

(ख) रूस 

(ग) भारत

(घ) ब्रिटेन

19. निम्नलिखित में से कौन एक सोवियत संघ के विखण्डन का परिणाम नहीं है? 

(क) सी आई एस का जन्म

(ख) अमेरिका व सोवियत संघ के बीच वैचारिक युद्ध की समाप्ति

(ग) शीत युद्ध को समाप्ति 

(घ) मध्य पूर्व में संकट 

class 12th NotesMCQ
HistoryPolitical Science
EnglishHindi

20. ब्रेजनेव किस देश के राष्ट्रपति थे ?

(क) अमेरिका 

(ख) इंग्लैण्ड

(ग) सोवियत संघ

(घ) चीन

21. 1991 में सोवियत संघ के विघटन के उपरान्त कौन-सा देश महाशक्ति के रूप में उभरा ?

(क) जर्मनी 

(ख) इटली 

(ग) अमेरिका

(घ) चीन

22. सोवियत संघ का विघटन कब हुआ ? 

(क) 1970

(ख) 1980

(ग) 1991

(घ) 2000

23. सोवियत संघ के अन्तिम राष्ट्रपति कौन थे ? 

(क) ब्रेसनेव 

(ख) एण्ड्रो 

(ग) मिखाइल गोर्वाच्यव

(घ) स्टालिन

24. 1955 के वारसा सन्धि में कौन सा देश सदस्य नहीं था ? 

(क) सोवियत संघ

(ख) पोलैण्ड 

(ग) पश्चिमी जर्मनी

(घ) पूर्वी जर्मनी

25. जर्मनी का एकीकरण कब हुआ था ?

(क) 1992 

(ख) 1990 

(ग) 1979

(घ) 1985

1. (ग), 2. (ख), 3. (क), 4. (ग), 5. (ग), 6. (घ), 7. (घ), 8. (ख), 9. (ग), 10. (घ), 11. (ग), 12. (ग), 13. (क), 14. (ख), 15. (ख), 16. (घ), 17. (क), 18. (घ), 19. (घ), 20. (ग), 21. (ग), 22. (ग), 23. (ग), 24. (ग), 25. (ख) ।] 


class12.in

FAQs

1. ‘जन लोकतन्त्र’ किसे कहा गया ? 

उत्तर-पूर्वी यूरोप के देशों, जैसे- पोलैण्ड व चेकोस्लोवाकिया के कम्युनिस्टों ने मिले-जुले मन्त्रिपरिषद् में स्थान प्राप्त कर सरकार पर अपना दबदबा स्थापित कर लिया। इसे ही ‘जन-लोकतन्त्र’ कहा गया।

2. ‘दूसरी दुनिया’ का क्या अभिप्राय है? 

उत्तर- जब रूस में समाजवादी राज्य की स्थापना हुई तो यूरोप के उदारवादी देशों के शासकों ने उसे दूसरी दुनिया कहकर अपमानित किया।

3. डिस्टालीनीकरण अभियान का क्या लक्ष्य था ? 

उत्तर – 1956 में खुश्चेव का नेतृत्व आया, उसने स्टालिन के कृत्वों की निन्दा की तथा स्टालिन पंथियों का दमन किया।

4. ‘सीमित प्रभुसत्ता’ के सिद्धान्त का क्या अर्थ था ? 

उत्तर- सोवियत नेता ब्रेजनेव ने यह तर्क प्रस्तुत कर चेकोस्लोवाकिया में सैनिक हस्तक्षेप का औचित्यीकरण किया कि वारसा सन्धि में शामिल राज्य सोवियत विरोधी काम नहीं कर सकते।

5. नस्लीय राष्ट्रवाद का क्या अभिप्राय है? 

उत्तर- सोवियत संघ में अनेक राष्ट्रीयताओं के लोग रहते थे, लेकिन उन्होंने अपने विशिष्ट नस्लीय राष्ट्रवाद की दुहाई देकर स्वतन्त्र राज्य बना लिए।

6. सोवियत संघ का अन्तिम राष्ट्रपति कौन था ? 

उत्तर – सोवियत संघ का अन्तिम राष्ट्रपति मिखाइल गोर्बाच्योव था।

7. शीतयुद्ध के अन्त के प्रभाव को स्पष्ट कीजिए। 

उत्तर- शीतयुद्ध के अन्त के पश्चात् विश्व में एकध्रुवीय विश्वव्यवस्था का उदय हुआ।

Leave a Comment