Class 12 Political science MCQs Ch-3 US Hegemony in World Politics in Hindi | अध्याय 3 समकालीन विश्व में अमरीकी वर्चस्व MCQs

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

क्या आप Class 12 के विद्यार्थी हैं और आप Class 12 Political science MCQs CH-3 in Hindi में महत्वपूर्ण MCQs के तलाश में है ?क्योंकि यह अध्याय परीक्षा के लिए काफी महत्वपूर्ण है इस अध्याय से काफी प्रश्न परीक्षा में आ चुके हैं | जिसके कारण इस अध्याय का प्रश्न उत्तर जाना काफी जरूरी है|

तो विद्यार्थी इस लेख को पढ़ने के बाद आप इस अध्याय से काफी अंक परीक्षा में प्राप्त कर लेंगे ,क्योंकि इसमें सारी परीक्षा से संबंधित प्रश्नों का विवरण किया गया है तो इसे पूरा अवश्य पढ़ें |

मैं यह लेख किस आधार पर किस आधार पर लिखा रहा हूं = मैं खुद कक्षा 12वीं का टॉपर रह चुका हूं और मुझे यह ज्ञात है कि किस प्रकार के प्रश्न Class 12 के परीक्षा में पूछे जाते हैं| वर्तमान समय में ,मैं शिक्षक का भी भूमिका निभा रहा हूं ,और अपने छात्रों को कक्षा 12वीं के महत्वपूर्ण जानकारी व विषयों का अभ्यास भी कराता हूं | मैंने यहां mcqs का लेख अपने 5 सालों के अधिक अनुभव से लिखा है | इस पोस्ट के सहायता से आप परीक्षा में इस अध्याय से इतिहास में काफी अच्छे अंक प्राप्त कर पाएंगे |

Class 12 Political science MCQs Ch-3 US Hegemony in World Politics in Hindi | अध्याय 3 समकालीन विश्व में अमरीकी वर्चस्व MCQs

Class 12 Political science MCQs Ch-3 US Hegemony in World Politics in Hindi | अध्याय 3 समकालीन विश्व में अमरीकी वर्चस्व MCQs
Class 12 Political science MCQs Ch-3 US Hegemony in World Politics in Hindi | अध्याय 3 समकालीन विश्व में अमरीकी वर्चस्व MCQs

Class 12 Political science MCQs Ch-3 US Hegemony in World Politics in Hindi | अध्याय 3 समकालीन विश्व में अमरीकी वर्चस्व MCQs

कक्षा | Class12th 
अध्याय | Chapter03
अध्याय का नाम | Chapter Nameसमकालीन विश्व में अमरीकी वर्चस्व
बोर्ड | Boardसभी हिंदी बोर्ड
किताब | Book एनसीईआरटी | NCERT
विषय | Subjectराजनीति विज्ञान | Political science
मध्यम | Medium हिंदी | HINDI
अध्ययन सामग्री | Study Materialsबहुविकल्पीय प्रश्न | MCQ

स्मरणीय बिन्दु (Points to Remember)

  • 1. विश्व में कभी-कभी किसी एक महाशक्ति के प्रभुत्व की स्थिति बनी रहती है। कभी रोमनों तो कभी जर्मनों तो कभी ब्रिटिशों को ऐसा श्रेय प्राप्त हुआ। दूसरे महायुद्ध के बाद संयुक्त राज्य अमरीका व सोवियत संघ का आधिपत्य स्थापित हुआ जिसे विश्व में द्विध्रुवीयता की स्थिति कहा गया।
  • 2. लेकिन 1970 के बाद अमरीकी प्रभाव बढ़ा, जबकि सोवियत प्रभाव घटने लगा। अमेरिका ने चीन के साथ सम्बन्ध स्थापित करके अपनी स्थिति बहुत अधिक मजबूत कर ली। तभी एक ध्रुवीयता की प्रवृत्ति उभरी जो सोवियत संघ के विखण्डन के बाद बिल्कुल स्पष्ट हो गई।
  • 3.1991 में सोवियत संघ के विघटन के बाद केवल अमरीकी प्रभुत्व की स्थिति आ गई। इसी को ‘अमरीका के हाथों शान्ति’ कहा गया। दुनिया एक ध्रुवीय हो गई।
  • 4। वर्तमान समय में अमरीकी प्रभुत्व को कई दिशाओं में देखा जा सकता है, जैसे-अपनी इच्छानुसार नयी विश्व व्यवस्था की रचना, संयुक्त राष्ट्र संघ की उपेक्षा, अन्य राज्यों के घरेलू मामलों में हस्तक्षेप, नयी अन्तर्राष्ट्रीय आर्थिक व्यवस्था का विरोध।
  •  5. 2001 में अफगानिस्तान में तालिबान के शासन का सफाया तथा 2003 में इराक पर आक्रमण करके वहाँ सद्दाम हुसैन के अधिनायकवादी शासन का अन्त अमरीकी प्रभुत्व के प्रमुख उदाहरण हैं।
  • 6. लेकिन अमरीकी प्रभुत्व को चुनौतियों का सामना भी करना पड़ रहा है। जर्मनी व जापान नए आर्थिक बाघों के रूप में उभरे हैं, यूरोपीय संघ की मुद्रा (यूरो) डॉलर से अधिक महत्वपूर्ण हो रही है, फ्रांस, रूस व चीन अमरीकी कूटनीति की आलोचना करते हैं।
  • 7. भारत-अमरीकी सम्बन्धों में उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी रही है। भारत ने गुट निरपेक्षता की नीति अपनाई है जिसे अमरीका ने कदापि पसन्द नहीं किया। अमरीका के पाकिस्तान के प्रति झुकाव के कारण दोनों देशों के बीच अच्छे सम्बन्ध स्थापित नहीं हो सके। बांग्लादेश युद्ध (1971) के समय से सम्बन्ध टूटने के कगार तक पहुँच गए।
  • 8. अनेक मुद्दे हैं जो दोनों देशों के बीच मधुर सम्बन्धों में बाधा डालते हैं, जैसे अमरीका का दबाव कि भारत परमाणु परीक्षण न करे व परमाणु अप्रसारण सन्धि पर हस्ताक्षर करे तथा उसकी मध्यस्थता से कश्मीर की समस्या का समाधान करे।
  • 9. इसके बावजूद अमरीका भारत के साथ अच्छे सम्बन्ध बनाए रखना चाहता है क्योंकि वह चीन के बढ़ते हुए प्रभाव को रोकना चाहता है तथा व्यापारिक दृष्टि से भारत के महत्व को अपने ध्यान में रखता है। 
  • 10. गुटनिरपेक्षता के मार्ग पर डटे रहने के बावजूद भारत ने इन महाशक्तियों से अपने अच्छे सम्बन्ध बनाए रखने की रणनीति अपनाई। 1962 में अमरीकी सहायता ली गई जब चीन ने भारत पर आक्रमण किया। खाद्य संकट से निपटने के लिए अमरीका से आर्थिक समझौते किए गए। अब परमाणु ऊर्जा का असैनिक प्रयोग करने हेतु अमरीका के साथ समझौता हुआ है।
  • 11. एकध्रुवीयता के दौर में भारत को बड़ी सावधानी से काम करना है। अमरीका के दबाव में आकर अपनी कूटनीति का क्रियान्वयन भारत के हित में नहीं है। यह भी उसके हित में नहीं है कि अमरीका का खुलकर विरोध किया जाए। सीमा पारीय आतंकवाद से निपटने के लिए भी दोनों देशों के बीच सहयोग व समन्वय का बना रहना जरूरी है। 
  • 12. 11 सितम्बर, 2001 को अलकायदा आतंकवादी संगठन के आतंकवादियों ने अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में स्थित विश्व व्यापार केन्द्र को हवाई जहाज से टकराकर नष्ट कर दिया।
  • 13. 11 सितम्बर, 2001 के आतंकवादी हमलों का मुख्य सूत्रधार आतंकवादी ओसामा बिन लादेन 2 मई, 2011 को अमेरिकी सैनिकों द्वारा पाकिस्तान के एबटाबाद शहर में मारा गया। 
  • 14. वर्तमान में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प हैं। ये रिपब्लिकन पार्टी से सम्बन्धित है।

बहुविकल्पीय प्रश्न (Multiple Choice Questions) 

1. किस अमरीकी राष्ट्रपति ने नयी विश्व व्यवस्था का चित्र प्रस्तुत किया?

(क) रिचर्ड निक्सन

(ख) जिम्मी कार्टर 

(ग) रोनाल्ड रीगन 

(घ) जॉर्ज बुश

2. 1991 में किसका अन्त हुआ ? 

(क) रोमनों के हाथों शान्ति 

(ख) जर्मनों के हाथों शान्ति

(ग) ब्रिटिशों के हाथों शान्ति

(घ) सोवियत संघ के हाथों शान्ति

3. 1996 में तालिबान ने किस राज्य में अपना शासन स्थापित किया जिसे 2001 में अमरीका ने मिटा दिया ?

(क) ईरान

(ख) पाकिस्तान

(ग) इराक

(घ) अफगानिस्तान

4. कुवैत को किस राज्य के अवैध चंगुल से मुक्त कराया गया ?

(क) इराक

(ख) ईरान

(ग) पाकिस्तान (घ) सोवियत संघ 

5. परमाणु अप्रसार सन्धि पर किस देश ने हस्ताक्षर नहीं किया?

(क) ईरान

(ख) उत्तरी कोरिया

(ग) भारत

(घ) चीन

6. इतिहास के अन्त का सूत्र किसने दिया ?

(क) फ्रांसिस फुकुयामा 

(ख) डैनियल बेल

(ग) एन. चोमस्की

(घ) जिबिगन्यु ब्रजेजिन्सको 

7. भारत के किस प्रधानमन्त्री ने अमरीका के साथ असैनिक कार्यों के हेतु परमाणु समझौते का सबल समर्थन किया? 

(क) इन्दिरा गाँधी

(ख) राजीव गाँधी

(ग) अटल बिहारी वाजपेयी 

(घ) मनमोहन सिंह 

class 12th NotesMCQ
HistoryPolitical Science
EnglishHindi

8. किस देश ने 2003 में संयुक्त राष्ट्र संघ की उपेक्षा करके इराक पर आक्रमण किया ?

(क) अमरीका

(ख) चीन

(ग) फ्रांस

(घ) रूसी संघ

9. एकध्रुवीय की स्थिति किस राज्य के एकमात्र प्रभुत्व की परिचायक है?

(क) रूसी संघ

(ख) चीन

(ग) फ्रांस

(घ) संयुक्त राज्य अमरीका

10. किस राज्य में मदरसे चले रहे हैं जहाँ तालिबान को आतंकवाद का शिक्षण व प्रशिक्षण दिया जाता है?*

(क) अफगानिस्तान 

(ख) पाकिस्तान 

(ग) ईरान

(घ) इराक

11. किस देश के साथ सम्बन्ध स्थापित करके अमरीका ने अपनी शक्ति को बहुत बढ़ाया जिससे एक ध्रुवीयता की प्रवृत्ति उभरी ?

(क) भारत

(ख) चीन

(ग) ब्रिटेन

(घ) जापान

12. किस तत्व ने भारत-अमरीकी सम्बन्धों को टूटने के कगार तक पहुँचा दिया ? 

(क) भारत का परमाणु अप्रसारण सन्धि पर हस्ताक्षर न करना

(ख) बांग्लादेश युद्ध

(ग) भारत के परमाणु परीक्षण

(घ) भारत में वामपंथी दलों की भूमिका 

13. नाटो की स्थापना किस वर्ष की गई ?

(क) 1948

(ख) 1947

(ग) 1949

(घ) 1950

14. अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर आतंकवादियों का हमला कब हुआ ?

(क) 11 सितम्बर,2001 

(ख) 11 नवम्बर, 2003

(ग) 21 जुलाई, 2005

(घ) 30 अक्टूबर, 2008

15, 11 सितम्बर, 2001 को निम्नलिखित में से कौन-सी घटना घटी ?

(क) भारतीय संसद पर आतंकवादी हमला 

(ख) होटल ताज पर आतंकवादी हमला 

(ग) विश्व व्यापार केन्द्र पर आतंकवादी हमला

(घ) इनमें से कोई नहीं 

16. संयुक्त राज्य अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति कौन है?

(क) जॉर्ज बुश

(ख) बोरिस येल्तसिन

(ग) बिल क्लिंटन

(घ) डोनाल्ड ट्रम्प

17. संयुक्त राज्य अमेरिका में कुल कितने राज्य हैं?

(क) 49 

(ख) 50 

(ग) 51 

(घ) 52 

18.अमेरिकी सेनाएँ अफगानिस्तान से बाहर निकल जायेंगी- 

(क) 2014 के अन्त तक 

(ख) 2020 के अन्त तक

(ग) 2015 के अन्त तक 

(घ) 2018 के अन्त तक

19. द्वितीय विश्व युद्ध में अमेरिका ने जापान के किस शहर पर परमाणु बम गिराया था ?

(क) नागासाकी

(ख) इतोशिमा 

(ग) मिजामिसोमा

(घ) हाशिमा

20. 2003 में अमेरिका ने किस देश पर हमला किया ?

(क) कुवैत 

(ख) इराक 

(ग) ईरान

(घ) तेहरान

21. निम्नलिखित में से कौन-सा अमेरिका द्वारा आतंकवाद के विरुद्ध इसके वैश्विक युद्ध का हिस्सा था ? 

(क) ऑपरेशन डेजर्ट स्टॉर्म 

(ख) कम्प्यूटर वॉर

(ग) ऑपरेशन एण्ड्योरिंग फ्रीडम

(घ) वीडियोगेम वॉर 

22. निम्न में से किस देश ने खुले दार की नीति अपनाई ?

(क) भारत 

(ख) ब्रिटेन

(ग) पाक

(घ) चीन 

23. विश्व को इंटरनेट की सुविधा किस देश की देन है?

(क) जापान

(ख) चीन

(ग) संयुक्त राज्य अमेरिका 

(घ) भारत 

24. कुवैत पर किस राज्य ने कब्जा कर लिया था ?

(क) ईरान

(ख) इराक

(ग) पाकिस्तान

(घ) अफगानिस्तान

1. (घ), 2. (घ), 3. (घ), 4. (क), 5. (ग), 6. (क), 7. (घ), 8. (क), 9. (घ), 10. (ख), 11. (ख), 12. (ख), 13. (ग),14. (क), 15. (ग), 16. (घ), 17. (ख), 18. (क), 19. (क), 20. (ख), 21. (ग), 22. (घ), 23. (ग), 24. (ख) ।]


class12.in

FAQs

1. ‘अमरीका के हाथों शान्ति’ का क्या अभिप्राय है? 

उत्तर- अब अमरीका ही ऐसा राज्य है जो सारी दुनिया में शान्ति स्थापित कर सकता है, यही उसके एकमात्र प्रभुत्व का परिचायक है।

2. एक ध्रुवीयता से आप क्या समझते हैं? (JAC, 2017) 

उत्तर- अमरीकी प्रभुत्व के कारण अब विश्व के सभी देश अमरीका को देखकर अपनी कूटनीति का प्रयोग कर रहे हैं, मानो वे उसी ध्रुव पर घूम रहे हो।

3. तालिबान कौन है?

उत्तर- ये आतंकवादी हैं जिन्होंने पाकिस्तान के मदरसों में शिक्षण व प्रशिक्षण पाकर अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया तथा अब अन्य देशों में आतंकवादी गतिविधियों कर रहे हैं।

4. ‘इतिहास के अन्त’ का अर्थ बताइए।

उत्तर- अमरीकी लेखक फ्रांसिस फुकुयामा के मतानुसार उत्तर-शीत युद्ध काल में उदारवाद की विजय के कारण विचारधारा का तत्व अप्रासंगिक हो गया है। 

5. व्यापक परमाणु परीक्षण प्रतिबन्ध सन्धि का क्या सार है ?

उत्तर- 1996 में संयुक्त राष्ट्र की महासभा द्वारा अपनाई गई इस सन्धि का उद्देश्य सभी प्रकार के परमाणु परीक्षणों को पूर्णतया वर्जित करना है।

6. अमेरिका का प्रभुत्व (एक ध्रुवीयता) कब से प्रारम्भ हुआ ? 

उत्तर- अमेरिकी प्रभुत्व या एकध्रुवीयता को हम सोवियत संघ के पतन के साथ जोड़कर देख सकते हैं। इस तरह वर्ष 1991 से ही अमेरिकी प्रभुत्व की शुरुआत मानी जा सकती है।

7. भारत अमेरिका के मध्य परस्पर सम्बन्धों को दर्शाने वाले दो तथ्यों को लिखिए। 

उत्तर- (i) दोनों ही देश लोकतन्त्र के समर्थक हैं तथा (ii) दोनों देश असैनिक प्रयोजनों हेतु परमाणु शक्ति को बढ़ाने के पक्षधर हैं।

8. अन्तर्राष्ट्रीय आण्विक ऊर्जा एजेन्सी का क्या मतलब है? अथवा अन्तर्राष्ट्रीय आण्विक ऊर्जा एजेन्सी के दो महत्वपूर्ण कार्य लिखिए। 

उत्तर- अन्तर्राष्ट्रीय आण्विक ऊर्जा एजेन्सी (IAEA), वह संगठन है जो परमाण्विक ऊर्जा के शान्तिपूर्ण उपयोग को बढ़ावा देने और सैन्य उद्देश्यों में इसके इस्तेमाल को रोकने की कोशिश करता है।

Leave a Comment