Class 12 Psychology Most Important Questions in Hindi PDF Download

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

Class 12 Psychology Most Important Questions in Hindi, class 12 Psychology Objective Question Most Important questions, class 12 Psychology MCQs question Most Important Questions

class 12 psychology most important questions in Hindi

Class12th 
ChapterImportant Model Question Paper
BoardHidi Board
Book NCERT
SubjectPsychology
Medium Hindi
Study MaterialsFree Study Materials

class 12 psychology objective question most important questions

Class 12 Psychology Most Important Questions in Hindi Pdf Download

1.बुद्धि के ‘पास’ मॉडल को किसने प्रस्तावित किया है ? (Who proposed the ‘PASS’ model of intelligence?)

(a) बिने (Binet)

(b) नागलीरी (Naglieri)

(c) किर्बी (Kirby)

(d) जे.पी. दास (J.P. Das)

Ans.(c)

2. मनोवैज्ञानिकों ने ‘स्व’ के कितने पक्षों की चर्चा की है ? (How many aspects of ‘self are discussed by the psychologists ?)

(a) 7

(b) 6

(c) 4

(d) 8 

Ans.(c)

3.निम्न में से कौन मानव निर्मित है? (Which of the following is man made ?)

(a) प्रदूषण (Pollution)

(b) बाढ़ (Flood)

(c) सुखाड़ (Drought)

(d) समुद्री तूफान (Cyclone)

Ans.(a)

4. व्यक्तित्व मनोविकृति के कितने प्रकार हैं ? (How many types of personality disorders are there?)

(a) 4

(b) 2

(c) 3

(d) 6 

Ans.(c)

5.मनोचिकित्सक और रोगी के बीच मनोचिकित्सात्मक संबंध की कितनी अवस्थाएँ हैं? (How many stages of psychotherapeutic relation are there between psychotherapist and patient?)

(a) 3

(b) 4

(c) 5

(d) 2 

Ans.(b)

6.सर्वप्रथम रूढ़ियुक्तियों का प्रयोग किसने किया ? (At first the stereotypes are used by)

(a) वाल्टर लिपमेन (Walter Lipman)

(c) थर्स्टन (Thurstone)

(b) लिनटन (Linton) 

(d) अलपोर्ट (Allport) 

Ans.(a)

7.समूह की सर्वोत्तम परिभाषा किसने दी है ? (The best definition of group is given by)

(a) क्रेच और क्रेचफिल्ड (Krech & Crutchfield)

(b) शेरिफ और शेरिफ (Sherif and Sherif)

(c) न्यूकॉम्ब (Newcomb)

(d) अकोलकर (Akolkar)

Ans.(c)

8.’विश्व स्वास्थ्य संगठन’ के अनुसार स्वास्थ्य के कितने पक्ष हैं? (According to ‘World Health Organization’ how many aspects of health are there?)

(a) 2

(b) 3

(c) 5

(d) 4 

Ans.(c)

9.निम्न में से कौन परीक्षण कार्य के दिशा निर्देश से संबंधित नहीं है? (Which of the following guidelines is not related to testing work?)

(a) वैधता (Validity)

(b) विश्वनीयता (Reliability)

(c) प्रामाणिकता (Quantification) 

(d) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans.(d)

10.’बेल समायोजन ईनवेंटरी’ द्वारा कितने तरह के समायोजन का मापन किया जाता है ? (How many types of adjustment are measured by ‘Bell Adjustment Inventory’ ?)

(a) 3

(b) 6

(c) 4

(d) 5 

Ans.(d)

class 12 psychology most important questions in hindi

Q. 11. विभ्रम क्या है? (What is hallucination ?) 

Ans. विभ्रम शब्द लैटिन से आया है और इसका अर्थ है ‘मानसिक रूप से भटकना ।’ विभ्रम को ‘एक संवेदी वस्तु या घटना की धारणा’ और संवेदी अनुभव जो प्रासंगिक संवेदी अंगों की उत्तेजना के कारण नहीं होते हैं के रूप में परिभाषित किया गया है। विभ्रम विशेष रूप से विध्रुवी 1 विकार की विशेषता है।

Q. 12. व्यावहारिक बुद्धि क्या है? (What is practical intelligence ?)

Ans. व्यावहारिक बुद्धि का आशय उस तरह की सोच से है जिसका उपयोग लोग दैनिक समस्याओं का समाधान करने के लिये करते हैं, चाहे वह घर हो, एक सामाजिक परिवेश हो या काम करने का स्थान हो। इसे कार्यरत मानस या व्यापक पैमाने पर की जाने वाली दैनिक जीवन की उद्देश्यपूर्ण क्रिया में निहित चिंतन के रूप में देखा जाता है।

Q. 13. चेतन क्या है? (What is conscious?)

Ans. चेतन एक ऐसी मनोवैज्ञानिक अवधारणा है जिसके अन्तर्गत चिन्तन, भावनायें और क्रियायें आती हैं जिनके प्रति लोग जागरूक रहते हैं और उनपर ध्यान केन्द्रित करते हैं।

Q. 14. पूर्वधारणा क्या है? (What is prejudice ?) 

Ans. पूर्वधारणा या पूर्वाग्रह एक पूर्व अहीत विचार है जो अविधारित होता है तथा समाज के व्यक्तियों, समूहों आदि के बारे में अधिकतर नकारात्मक मनोवृत्तियों को दर्शाता है। इसमें व्यवहारात्मक, भावात्मक एवं संज्ञानात्मक तीनों घटक सम्मिलित रहते हैं। यूँ तो पूर्वाग्रह सकारात्मक तथा ऋणात्मक दोनों तरह के हो सकते हैं।

Q. 15. चिन्ता विकार क्या है? (What is anxiety disorder ?)

Ans. स्वयं करे

Q. 16. हरितगृह क्या है? (What is greenhouse?) 

Ans. ग्रीनहाउस एक ऐसी संरचना है, जिसमें मुख्य रूप से पारदर्शी सामग्री जैसे कांच की दीवारें और छत बनाई जाती है जिसमें विनियमित जलवायु परिस्थितियों की आवश्यकता वाले पौधों को उगाया जाता है। ये संरचनाएँ छोटे शेड से लेकर औद्योगिक आकार की इमारतों तक होती है। ठंड के मौसम में अपनी सामग्री की रक्षा करते हुए, सूर्य के प्रकाश के सम्पर्क में आनेवाले ग्रीनहाउस के बाहरी तापमान से काफी गर्म हो जाता है।

class 12 psychology most important questions in hindi

Q. 17. समायोजन से आप क्या समझते हैं? 

Ans. स्वयं करे

Q. 18. अच्छे आहार से आप क्या समझते हैं? 

Ans. अच्छा आहार उसे कहा जाता है जो हमारे शरीर को भरपूर मात्रा में वो पोषक तत्व प्रदान करे जो शरीर तथा बुद्धि के विकास और स्वास्थ्य के लिये लाभदायक हो, सहायक हो। दूसरे शब्दों में, वह आहार जो शरीर के रोगाणु प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा कर शरीर को हजारों बीमारियों से लड़ने की ताकत देता है एक अच्छा/संतुलित आहार कहलाता है।

Q. 19. मनोग्रस्तता-बाध्यता विकार क्या है?

Ans, स्वयं करे

Q. 20. साक्षात्कार की क्या विशेषताएँ हैं

Ans. साक्षात्कार मनोवैज्ञानिक कौशल के अन्तर्गत आता है। इसमें आमने-सामने की प्रक्रिया होती है। साक्षात्कारकर्ता और साक्षात्कार देनेवाले के बीच आमने-सामने का संबंध होता है। 

साक्षात्कार लेनेवाला साक्षात्कार देनेवाले व्यक्ति से मनोवैज्ञानिक समस्याओं को हल करने के लिये प्रश्न करता है। इस प्रश्न का उत्तर साक्षात्कार देनेवाला सोच-समझकर देता है। इस प्रक्रिया से मनोवैज्ञानिक समस्याओं की जानकारी प्राप्त होती है और उसी के अनुसार मनोवैज्ञानिक चिकित्सक समस्या से अस्त व्यक्ति का उपचार अच्छी तरह से करता है।  परिणामस्वरूप समस्याओं का समाधान होता है। ये सारी साक्षात्कार की विशेषतायें होती है।

class 12 psychology most important questions in hindi

Q. 21. बुद्धि सिद्धान्त की चर्चा करें। 

Ans. बुद्धि का आशय पर्यावरण को समझने, सविवेक चिंतन करने तथा किसी चुनौती के सामने होने पर उपलब्ध संसाधनों का प्रभावी ढंग से उपयोग करने की व्यापक क्षमता से है। बुद्धि की इस स्थिति की जानकारी प्राप्त करने के लिए जो तरीका अपनाया जाता है। उसे बुद्धि-सिद्धांत या बुद्धि परीक्षण कहा जाता है। 

बुद्धि को समझने के लिए विभिन्न सिद्धान्त होते हैं। उन सिद्धान्तों के आधार पर बुद्धि परीक्षण किया जाता है। बुद्धि-परीक्षण विभिन्न प्रकार के होते हैं। जैसे-शाब्दिक बुद्धि परीक्षण, निष्पादनीय बुद्धि परीक्षण, त्रितत्वीय सिद्धान्त, अशाब्दिक बुद्धि-परीक्षण, क्रियात्मक बुद्धि परीक्षण इत्यादि । 

Q. 22. मानसिक विकार के सामाजिक कारणों की चर्चा करें। (Describe the social causes of mental disorder.)

Ans. मानसिक विकार मस्तिष्क की विकृतियों के कारण उत्पन्न होती है। मानसिक विकृति या मानसिक विकार होने के विभिन्न मनोवैज्ञानिक कारण है जिनमें सामाजिक कारण भी एक है। सामाजिक मनोविज्ञान के उत्पन्न होने में सामाजिक कारक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। 

जब व्यक्ति के सामने कुछ सामाजिक विकृति आ जाती है तो इसे मानसिक विकार उत्पन्न होता है। जैसे गरीबी में विकसित होने वाले बच्चों का सामना करने के संसाधनों से सज्जित नहीं कर पाती है और मनोविकार के प्रति और संवेदनशील बना देती है। 

पूर्वाग्रह, भेदभाव, बेरोजगारी, स्त्री-पुरुष के बीच असमानता, तीव्रगामी सामाजिक एवं तकनीकी परिवर्तन इत्यादि गहरे स्तर पर और जटिल ढंग से कार्य करते हैं। परिणामस्वरूप मानसिक विकार उत्पन्न होती है।

Q. 23. पूर्वधारणा के स्रोतों की चर्चा करें। (Describe the sources of prejudice.)

Ans. पूर्वधारणा के विभिन्न स्रोत निम्नलिखित हैं- 

(1) अधिगम-अन्य अभिवृत्तियों की तरह पूर्वाग्रह भी साहचर्य, पुरस्कार एवं दंड, दूसरों के प्रेक्षण, समूह या संस्कृति के मानक तथा सूचनाओं की उपलब्धता, जो पूर्वागड को बढ़ावा देते हैं, के द्वारा अधिगमित किए जा सकते हैं। परिवार, संदर्भ समूह, व्यक्तिगत अनुभव तथा संचार माध्यम पूर्वाग्रह के अधिगम में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। 

जो लोग पूर्वाग्रहग्रस्त अभिवृत्तियों को सीखते हैं वे ‘पूर्वाग्रहग्रस्त व्यक्तित्व’ विकसित कर लेते हैं तथा समयोजन स्थापित करने की क्षमता में कमी, दुश्चिता तथा बाह्य समूह के प्रति आक्रामकता की भावना को प्रदर्शित करते हैं।

(ii) एक प्रबल सामाजिक अनन्यता तथा अंतःसमूह अभिनति-वे लोग. जिनमें सामाजिक अनन्यता की प्रवल भावना होती है एवं अपने समूह के प्रति एक बहुत ही सकारात्मक अभिवृत्ति होती है वे अपनी अभिवृत्ति को और प्रबल बनाने के लिए बाह्य समूहों के प्रति नकारात्मक अभिवृत्ति रखते हैं। इनका प्रदर्शन पूर्वाग्रह के रूप में होता है।

(iii) बलि का बकरा बनाना यह एक ऐसी प्रक्रिया या गोचर है जिसके द्वारा बहुसंख्यक समूह अपनी-अपनी सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक समस्याओं के लिए अल्पसंख्यक बाहा समूह को दोषी ठहराता है। अल्पसंख्यक इस आरोप से बचाव करने के लिए या तो बहुत कमजोर होते हैं या संख्या में बहुत कम होते हैं। 

बलि का बकरा बनाने वाले प्रक्रिया कुंठा को प्रदर्शित करने का समूह आधारित एक तरीका है तथा प्रायः इसकी परिणति कमजोर समूह के प्रति नकारात्मक अभिवृत्ति या पूर्वाग्रह के रूप में होती है। 

(iv) स्वतः साधक भविष्योक्ति-कुछ स्थितियों में वह समूह जो पूर्वाग्रह का लक्ष्य होता है स्वयं ही पूर्वाग्रह को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार होता है। लक्ष्य समूह इस तरह से व्यवहार करता है कि वह पूर्वाग्रह को प्रमाणित करता है अर्थात् नकारात्मक प्रत्याशाओं की पुष्टि करता है। 

उदाहरणार्थ, यदि लक्ष्य समूह को ‘निर्भर’ और इसलिए प्रगति करने में सक्षम के रूप में वर्णित किया जाता है तो हो सकता है कि इस लक्ष्य समूह के सदस्य वास्तव में इस तरह से व्यवहार करें। इस विवरण को सही साबित करें। इस तरह वे पहले से विद्यमान पूर्वाग्रह को और प्रबल करते हैं।

Q. 24. हिंसा से आप क्या समझते हैं? चर्चा करें। (What do you mean by violence? Explain.) 

Ans. हिंसा आक्रमण, बलात्कार या हत्या जैसे आफ्रामकता का एक चरम रूप है। हिंसा के कई कारण है जिनमें निराशा, हिंसक मीडिया का संपर्क, घर या

पड़ोस में हिंसा और अन्य लोगों के कार्यों को शत्रुतापूर्ण होते हुए भी देखने की प्रवृत्ति शामिल है। कुछ स्थितियों में आक्रामकता का खतरा भी बढ़ जाता है, जैसे

पीने, अपमान और अन्य उकसावे और गर्मी एवं अधिक भीड़ जैसे पर्यावरणीय कारक।

Q. 25. अशाब्दिक संचार से आप क्या समझते हैं? (What do you mean by non-verbal communication?)

Ans. अशाब्दिक संचार से तात्पर्य हावभाव, चेहरे के भाव, आवाज के स्वर, आँखों के संपर्क शरीर की भाषा, मुद्रा और अन्य तरीकों से है जो लोग भाषा का उपयोग किये बिना संवाद कर सकते हैं। 

अशाब्दिक संचार हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि यह एक व्यक्ति की रोजमर्रा की जिंदगी में सार्थक संबंधों को जोड़ने, संलग्न करने और स्थापित करने की क्षमता में सुधार कर सकता है। 

इस प्रकार के संचार की बेहतर समझ लोगों को दूसरे के साथ मजबूत संबंध बनाने के लिए प्रेरित कर सकती है।

Q. 26. मूल्यांकन की विधियों की संक्षेप चर्चा करें। (Describe the brief the assessment methods.)

Ans. मूल्यांकन विधियों में संबंधित विषय की विशेषताएँ, गहराई और कवरेज का एक सेट होता है, जो मूल्यांकन के लिये प्रयास के स्तर को परिभाषित करने में मदद करता है। 

ये विशेषतायें प्रकृति में पदानुक्रमित है, जो कुछ सूचना प्रणालियों के लिये आवश्यक आश्वासनों के लिए मूल्यांकन की कठोरता और गुंजाइश को परिभाषित करने के लिये साधन प्रदान करती है।

class 12 psychology most important questions in hindi

Q.27. भारतीय संविधान द्वारा नागरिकों के अधिकार क्या हैं? (What are the rights of citizens according to the Constitution of India?)

Ans. भारतीय संविधान द्वारा नागरिकों को जो सुविधायें दी गयी है। उसे नागरिकों का अधिकार कहा जाता है। दूसरे शब्दों में इसे मौलिक अधिकार भी कहते हैं। मौलिक अधिकार उन आधारभूत आवश्यक तथा महत्वपूर्ण अधिकारों को कहा जाता है जिनके विना देश के नागरिक अपने जीवन का विकास नहीं कर सकते। 

जो स्वतंत्रतायें तथा अधिकार व्यक्ति तथा व्यक्तित्व का विकास करने के लिये समाज में आवश्यक समझे जाते हैं, उन्हें मौलिक अधिकार कहा जाता है। 

भारतीय संविधान में सात प्रकार के गौलिक अधिकारों का वर्णन किया गया है, परन्तु 44वें संशोधन के बाद 6 तरह के मौलिक अधिकार नागरिकों को प्राप्त हैं। 

ये अधिकार हैं-

(i) समानता का अधिकार 

(ii) संस्कृति और शिक्षा संबंधी संबंधी अधिकार 

(iii) स्वतंत्रता का अधिकार 

(iv) शोषण के विरुद्ध अधिकार 

(v) संवैधानिक उपचारों का अधिकार 

(vi) धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार।

Or, स्वास्थ्य के महत्व को एक सामाजिक समस्या के रूप में चर्चा करें। (Describe the importance of health as a social problem.)

Ans. मनुष्य के शरीर का स्वस्थ रहना ही स्वास्थ्य कहलाता है जब स्वास्थ्य अच्छा रहता है तो ऐसा मनुष्य स्वस्थ माना जाता है। मनुष्य के शरीर का स्वस्थ रहना आवश्यक है। तभी वह अपना सारा काम अच्छी तरह से करता है। ऐसा मनुष्य अपना पारिवारिक और सामाजिक जीवन अच्छी तरह से व्यतीत करता है। व्यक्ति और समाज के लिये स्वास्थ्य का बहुत महत्व है।

व्यक्ति के समूह को समाज कहा जाता है। समाज में रहकर ही व्यक्ति अपना जीवन बिताता है और अपनी सारी आवश्यकताओं की पूर्ति करता है। बिना समाज के मनुष्य अपना जीवन नहीं बिता सकता है।

स्वास्थ्य के महत्व को एक सामाजिक समस्या के रूप में भी देखा जाता है। यह समस्या मनोविज्ञान की अवधारणा से भी संबंधित रहता है। 

हम जानते हैं कि एक सामाजिक समस्या के रूप में व्यक्ति के स्वास्थ्य का बहुत महत्व है। जव व्यक्ति स्वस्थ रहता है तो स्वस्थ समाज का भी निर्माण होता है। स्वस्थ व्यक्ति पारिवारिक और सामाजिक जीवन अच्छी तरह से व्यतीत करता है। बिना स्वस्थ व्यक्ति के स्वस्थ समाज का निर्माण नहीं होता है। अतः स्पष्ट है कि एक सामाजिक समस्या के रूप में स्वास्थ्य का बहुत अधिक महत्व है। 

Q. 28.व्यक्तित्व निर्माण के कारकों की चर्चा संक्षेप में करें। 

Ans. व्यक्तित्व के निर्माण के विभिन्न कारक है जिनका संक्षेप में वर्णन निम्मलिखित है-

1. जैविक कारक जैविक कारक ऐसे कारक होते हैं जो आनुवंशिक होते हैं। ऐसे कारक का निर्धारण वातावरण से नहीं होता है, आनुवंशिकता से होता है। इस कारक के द्वारा व्यक्तित्व का विकास व निर्माण होता है। इसके अन्तर्गत विभिन्न कारक होते हैं जैसे-शारीरिक संरचना, बुद्धि, स्नायुमंडल इत्यादि। ये सभी कारकों के हिसाब से ही व्यक्तित्व का निर्माण होता है।

2. सामाजिक कारक इस कारक के द्वारा भी व्यक्तित्व का निर्माण होता है। प्रत्येक व्यक्ति का जन्म किसी-न-किसी समाज में होता है। सच पूछा जाए तो जन्म के समय बच्चा न तो सामाजिक रहता है और न ही असामाजिक। वह जन्म से मृत्यु तक समाज में रहता है तथा समाज के नियमों, आदर्शों, परंपराओं एवं मापदंडों के अनुकूल व्यवहार करना या सीखने की कोशिश करता है।

इस तरह इन सामाजिक नियमों, आदर्शों, परंपराओं एवं मानदंडों का प्रभाव व्यक्तित्व के विकास पर पड़ता है। सामाजिक कारक विभिन्न प्रकार के होते हैं जिनमें पारिवारिक जीवन, जन्मक्रम, इकलौता बच्चा, पास-पड़ोस, स्कूल और कॉलेज इत्यादि सामाजिक कारक है जिनके आधार पर व्यक्तित्व का निर्धारण होता है। 

3. सांस्कृतिक कारक-इस कारक के द्वारा भी व्यक्तित्व का निर्माण होता है। सांस्कृतिक वातावरण का भी प्रभाव व्यक्तित्व निर्माण पर पड़ता है। यही कारण है कि एक संस्कृति के व्यक्ति के रहन-सहन, तौर-तरीके, रीति-रिवाज, खान-पान, आचार-विचार दूसरी संस्कृति के लोगों से भिन्न होते हैं। एक अमेरिकी का व्यक्तित्व एक अंग्रेज से भिन्न होता है और एक अंग्रेज का व्यक्तित्व एक भारतीय के व्यक्तित्व से भिन्न होने का प्रधान कारण उनकी सांस्कृतिक भिन्नता है। जैसे-सांस्कृतिक वातावरण व्यक्ति के सामने रहता है वैसा ही उसका व्यक्तित्व बन जाता है।



class12.in


class12.in

Leave a Comment