JAC Board Class 12 Economic Previous Year Question Paper (PDF)

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

JAC Board Class 12 Economic Previous Year Question Paper (PDF), JAC Board Class 12 Economic Previous Year Question Paper, Class 12 Economic Previous Year Question Paper


JAC Board Class 12 Economic Previous Year Question Paper (PDF)


Class12th 
Book NCERT
SubjectEconomic
Medium Hindi
Study MaterialsImportant questions answers
Download PDFJAC Board Class 12 Economic Previous Year Question Paper (PDF)
JAC Board Class 12 Economic Previous Year Question Paper PDF

TIME: 1 Hours 30 Min. | सामान्य निर्देश के लिए


1. अर्थशास्त्र के जनक कौन थे ? (Who was the father of Economics ?)

(1) जे. बी. से (J. B. Say)

(2) एडम स्मिथ (Adam Smith)

(3) माल्थस (Malthus)

(4) मार्शल (Marshall) 

Ans (2)

2. किसके अनुसार, अर्थशास्त्र मानव कल्याण का विज्ञान है ? (According to whom, Economics is a science of human welfare ?)

(1) मार्शल (Marshall) 

(2) सेम्युलसन (Samuelson) 

(3) एडम स्मिथ (Adam Smith)

(4) माल्दस (Malthus) 

Ans. (1)

3. निम्नलिखित में कौन उत्पत्ति का साधन नहीं है? (Which of the following is not a factor of production ?)

(1) भूमि (Land)

(2) श्रम (Labour)

(3) मुद्रा (Money)

(4) पूँजी (Capital) 

Ans. (3) 

4. अर्थव्यवस्था की केन्द्रीय समस्या कौन-सी है ? (Which problem of an economy?)

(1) साधनों का आवंटन (Allocation of resources)

(2) सायनों का कुशलतम उपयोग (Optimum utilisation of resources)

(3) आर्थिक विकास (Economic development)

(4) इनमें से सभी (All of these)

Ans. (1) 

5. किस प्रकार की अर्थव्यवस्था में कीमत तंत्र के आधार पर निर्णय लिए जाते हैं ? (In which economy decision is taken on the basis

of price mechanism ? ) 

(1) समाजवादी (Socialist)

(2) पूँजीवादी (Capitalist)

(3) मिश्रित (Mixed)

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (2)

6. उस वक्र का नाम बताएँ जो आर्थिक समस्या को दर्शाता है (Mention the name of the curve which shows economic problem 🙂

(1) उत्पादन वक्र (Production curve)

(2) मांग वक्र (Demand curve)

(3) उदासीनता वक्र (Indifference curve)

(4) उत्पादन संभावना वक (Production possibility curve) 

Ans. (4) 

7.गोसेन का प्रथम नियम कौन-सा है ? (Which is the first Law of Gossen ?)

(1) माँग का नियम (Law of demand )

(2) सीमान्त उपयोगिता ह्रास नियम (Law of diminishing marginal utility)

(3) सम सीमान्त उपयोगिता नियम (Law of equirnarginal utility) 

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (2) 

8. जब कुल उपयोगिता अधिकतम होती है, तब सीमान्त उपयोगिता है (When TU becomes maximum, MU is)

(1) धनात्मक (positive)

(2) ऋणात्मक (negative) 

(3) शून्य (zero)

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (3)

9. कीमत या बजट रेखा की ढाल होती है ? (Slope of budget line or price line is)

(1) P. P.

(2) P.. 

(3) P

(4) P

Ans. (4) 

10. उपयोगिता का क्रमवाचक सिद्धान्त किसने दिया ? (Who propounded the ordinal utility theory?) 

(1) मार्शल (Marshall) 

(2) हिक्स एवं ऐलेन (Hicks and Allen)

(3) पीगू (Pigou)

(4) रिकार्डो (Ricardo) 

Ans. (2) 

11. सीमान्त उपयोगिता ह्रास नियम के प्रतिपादक हैं (The propounder of law of diminishing marginal utility is)

(1) P,

(2) D. – P.

(3) D, = J (P.) 

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these) 

Ans. (2) 

12. माँग कह की सामान्यतः ढाल होती है (Demand curve generally slopes)

(1) बायें से दायें ऊपर की और (upward from left to right)

(2) बायें से दायें नीचे की ओर (downward from left to right)

(3) X- अक्ष के समान्तर (parallel to X-axis) 

(4) Y-अक्ष के समानान्तर (parallel to y-axis)

Ans. (3) 

13. माँग फलन को किस समीकरण द्वारा व्यक्त किया जाता है ? (Which of the following equations is a demand function ?)

(2) एडम स्मिथ (Adam Smith)

(1) गोसेन (Gossen)

(3) हिक्स (Hicks)

(4) मार्शल (Marshall) 

Ans. (1)

14. मूल्य वृद्धि से ‘गिफिन’ वस्तुओं की माँग (Witha rise in price the demand for ‘giffen’ goods)

(1) बढ़ जाती है (increases)

(2) पट जाती है (decreases)

(3) स्थिर रहती है (remains constant)

(4) अस्थिर रहती है (remains unstable)

15. माँग में कमी के क्या कारण हैं? (What is the reason for fall in demand ?)

(1) आम में कमी (Decrease in income)

(2) केताओं की संख्या में कमी (Decrease in number of buyers)

(3) उपभोक्ता की रूचि में कमी (Decrease in teste of consurner)

(4) इनमें से सभी (All of these)

Ans. (1)

Ans. (4)

16. मांग की लोच है ? (Elasticity of demand is) 

(1) गुणात्मक (Qualitative) 

(2) मात्रात्मक (Quantitative)

(3) (1) और (2) दोनों (Both (1) and (2)

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (1)

17. विलासिता वस्तुओं की माँग होती है (For luxury goods the (demand is)

(1) बेलोचदार (inelastic)

(2) लोचदार (elastic)

(3) अत्यधिक लोचदार (highly clastic )

(4) पूर्णतया बेलोचदार (perfectly inelastic)

Ans. (3) 

18.आवश्यक वस्तुओं की मांग की लोच होती है ? (Elasticity of demand for necessities is)

(1) शून्य (zero) 

(2) असीमित (unlimited) 

(3) इकाई से अधिक (greater than unity)

(4) इकाई से कम (less than unity)

Ans. (1)

19. उत्पादन फलन को व्यक्त करता है (Production function is expressed as)

(I) Q, P,

(2) Q, = / (A, B, C, D)

(3) Q = D.

(4) इनमें से कोई नहीं

Ans. (2)

20. निम्न में से कौन उत्पत्ति का साधन नहीं है? (Which of the following is not a factor of production ?) 

(1) भूमि (Land)

(2) श्रम (Labour)

(3) मुद्रा (Money) 

(4) पूंजी (Capital)

Ans. (3)

21.परिवर्तनशील अनुपात का नियम संबंधित है (Law of variables proportion is related to)

(1) अल्पकाल से (short run) 

(2) दीर्घकाल से (long run)

(3) अल्पकाल एवं दीर्घकाल दोनों से (short run and long run both)

(4) अति दीर्घकाल से (very long)

Ans. (1)

22. उत्पादन में वृद्धि के साथ-साथ कुल लागत एवं कुल स्थिर लागत का अन्तर (With the Increase in production the difference between total cost and total fixed cost)

(1) स्थिर रहता है ( is constant)

(2) चढ़ता रहता है (increases)

(3) घटता जाता है (decreases)

(4) घटता-चढ़ता जाता है (both increases and decreases) 

Ans. (2)

23. निम्न में से कौन सही है ? (Which of the following is correct ?)

(I) TVC – TC – TFC

(2) TC-TVC-TFC

(3) TFC-TVC+TC

(4) TC= TVC × TFC 

Ans. (1)

24. उत्पादन की 5 इकाइयों की औसत स्थिर लागत 20 रु है। उत्पादन की 5 इकाइयों की औसत परिवर्ती लागत 40 रु है। 5 इकाइयों की औसत लागत कितनी है ? (The average fixed cost at 5 units of output is Rs. 20. Average variable cost at 5 units of output is Rs. 40. Average cost of producing 5 units is )

(1) 20 रु. (Rs.20)

(2)40रु. (Rs. 40)

(3) 56 रु. (Rs.56)

(4) 60 रु. (Rs. 60)

Ans. (4)

25. फर्म का लाभ निम्नलिखित में किस शर्त को पूरा करने पर अधिकतम होगा ? (With which condition will firm get maximum profit ?)

(1) MR = MC

(2) MC वक MR को नीचे से काटे (MC curve cuts MR from below)

(3) (1) और (2) दोनों (Both (1) and (2))

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (1)

26. पूर्ण प्रतियोगिता में (In perfect competition)

(1) AR=MR 

(2) AR>MR

(3) AR <MR 

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these) 

Ans. (1) 

27. किस बाजार में AR वक्र X- अक्ष के समानान्तर होता है ? (In which market AR curve is parallel to X-axis ?)

(1) पूर्ण प्रतियोगिता (Perfect competition)

(2) एकाधिकार (Monopoly)

(3) एकाधिकारी प्रतियोगिता (Monopolistic competition)

(4) इनमें से सभी (All of these) 

Ans. (1)

28. फर्म की अंतिम संतुलन दशा में (In final equilibrium of firm)

(1) MC व MR को ऊपर से काटता है (MC curve cuts MR from above)

(2) MC वक्र MR को नीचे से काटता है (MC curve cuts MR from below)

(3) (1) और (2) दोनों (Both (1) and (2))

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (2)

29. वस्तु की पूर्ति के निर्धारक घटक कौन-से हैं ? (Determinating factor of supply of goods is) 

(1) वस्तु की कीमत (Price of goods)

(2) संबंधित वस्तुओं की कीमत (Price of related goods)

(3) उत्पादन साधनों की कीमत (Price of factors of production)

(4) इनमें से सभी (All of these)

Ans. (4)

30. “पूर्ति अपनी माँग स्वयं उत्पन्न करती है।” यह किसका कथन है ? (“Supply creates its own demand.” Who said it ?)

(1) जे. बी. से (J.B. Say) 

(2) रिकार्डो (Ricardo)

(3) पीयू (Pigou)

(4) मार्शल (Marshall) 

Ans. (1)

31. 0 का अर्थ है कि पूर्ति की लोच (e, = 0 means that elasticity of supply is)

(1) पूर्णतः लोचदार है (perfectly elastic)

(2) पूर्णतः बेलोचदार है (perfectly inelastic)

(3) कम लोचदार है ( less elastic )

(4) इकाई लोचदार है (unit elastic)

Ans. (2)

32. पूर्ति लोच की माप किस सूत्र से ज्ञात की जाती है ? (The measurement of the elasticity of supply is expressed as)

(1) P

(2) AP

(3) AP

(4) AP PM

Ans. (1)

33. बाजार की क्या विशेषता है ? (Which is a characteristic of the market ?)

(1) एक क्षेत्र (One area)

(2) क्रेताओं और विक्रेताओं की उपस्थिति (Presence of both buyers and sellers)

(3) वस्तु का एक मूल्य (Single price of the commodity)

(4) इनमें से सभी (All of these)

Ans. (4)

34. पूर्ण प्रतियोगिता में क्या स्थिर रहता है ? (Which of the following remains constant is perfect competition ?)

(1) AR

(2) MR

(3) (1) और (2) दोनों (Both (1) and (2)) 

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (1) 

35. कौन पूर्ण प्रतियोगिता की विशेषता नहीं है ? (Large number of buyers and sellers)

(1) केताओं तथा विक्रेताओं की अधिक संख्या (Large number of buyers and sellers)

(2) वस्तु की एकरूपता (Homogeneity of product)

(3) विज्ञापन तथा विक्रय लागतें (Advertisement and selling costs)

(4) बाजार का पूर्ण ज्ञान (Perfect knowledge of the market) 

Ans. (3) 

36. श्रम की 2 इकाई लगाने पर कुल उत्पादन 22 है और 1 इकाई लगाने पर यह 10 है तो सीमान्त उत्पादन होगा। (If total product at 2 units of labour empolyed is 22 and total product at 1 unit is 10, then MP is)

(1) 10

(2) 12

(3) 14

(4) 16 

Ans. (2)

37. एक वित्त मंत्री वस्तुओं पर कर दी दर में वृद्धि कर सकता है, जिसकी माँग की कीमत लोच होता है। (A Finance Minister may increase the tax rate on those commodities for which the value of price elasticity of demand is)

(1) 1 से अधिक (more than 1) 

(2) 1 से कम ( less than 1)

(3) अनंत (infinite)

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (2)

38. मार्शल के अनुसार, उपयोगिता की माप की इकाई (According to Marshall,……… …. है ।

(1) यूटिल्स (utils) 

(2) मीटर (metre)

(3) मुद्रा (money)

(4) ग्राम (gram)

Ans. (1) 

39. किसी वस्तु की पूर्ति की मात्रा और उसकी कीमत के बीच किस प्रकार का संबंध पाया जाता है ? (Which type of relationship is found between quanitiy supplied of a good and its price?) 

(1) विलोम (Inverse )

(2) प्रत्यक्ष (Direct)

(3) कोई संबंध नहीं (No relationship)

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (2)

40. किसी वस्तु की मानवीय आवश्यकता को संतुष्ट करने की क्षमता है। (The capability of a commodity to satisfy human wants is)

(1) उपभोग (consumption) 

(2) उपयोगिता (utility)

(3) गुण (quality)

(4) रुचि (taste)

Ans. (2)


GROUP A खंड-के’ |


(अति लघु उत्तरीय प्रश्न) (Very short answer type questions) किन्हीं पांच प्रश्नों के उत्तर दें। (Answer any Five questions)

1. अंतिम वस्तु क्या है? (What is Final goods ? )

Ans. कोई भी उत्पादित वस्तु उपभोक्ता द्वारा अपनी आवश्यकताओं को करने के लिए उपभोग किये जाए तो यह एक उपभोक्ता वस्तु या अन्तिम कहा जाता है। बेसे माइक्रोवेव साइकित, आटा, चावल, तेल इत्यादि।

 2. हस्तांतरण आय क्या है? (What is Transfer income ?)

Ans. ऐसा कोई आय भी किसी उत्पादन सेवा के लिए प्राप्त नहीं किया गया हो वह स्तांतरण आय कहा जाता है। जैसे-दाने

3. मुद्रा के प्राथमिक कार्य क्या है? (What are the primary functions of money ?) 

Ans. मुद्रा का प्राथमिक कार्य निम्नलिखित- 

(i) विनिमय या माध्यम (Medium of Exchange) मुद्रा का सबसे प्राथमिक कार्य है। विनिमय का माध्यम होना अर्थात् मुद्रा के बदले एक व्यक्ति अपनी वस्तुओं को बेच सकता है तथा दूसरी वस्तु खरीद सकता है। मुद्रा कप तथा विक या दोनों के माध्यम का कार्य करता है।

(ii) मूल्य का मापदण्ड (Member of value or unit of value): मुद्रा का एक महत्वपूर्ण प्राथमिक कार्य हे वस्तु तथा सेवाओं मूल्य को मुद्रा द्वारा भाषा जा सकता है। मुद्रा लेखेकी इकाई के रूप में मूल्य का मापदण्ड करती है। 

4. अधिविकर्ष से आप क्या समझते हैं ? (What do you mean by overdraft ?)

Ans. अधिविकर्म या ओवरड्रापर तब होता है जब बैंक में उपलब्ध शेष राशि से अधिक निकासी की जाती है। जैसे किसी व्यापारी के बैंक अकाउंट में 20.000 रुपये शेष है लेकिन उसको 30,000 रुपये चाहिए। ऐसे में बैंक उसको 30.000 रु. भुगतान कर सकता है अल्पकालीन के रूप में ये सुविधा कुछ विशेष पुराने व्यापारियों की बैंक द्वारा उपलब्ध की जाती है।

5. स्वायत / स्वतंत्र निवेश क्या है? (What is Antonomous investment ?)

Ans. स्वायत्त या स्वतंत्र निवेश विकसी सरकार या अन्य संस्था द्वारा किये गये । कुल निवेश का हिस्सा है जो अधिक विचारों से स्वतंत्र है। इसमें सरकारी निवेश, सार्वजनिक वस्तुओं या बुनियादी ढांचे के आवंटित धन और किसी अन्य प्रकार पर

निवेश शामिल हो सकता है जो कि जीडीपी में बदलाव पर निर्भर नहीं है। 

6. कर क्या है? (What is Tax ?) 

Ans. कर करदाता द्वारा किया जानेवाला ऐसा अनिवार्य आदान है जो कि सामाजिक उद्देश्य जैसे आय व संपत्ति की असमानता को कम करके उच्च रोजगार स्तर प्राप्त करने तथा आर्थिक स्थिरता में वृद्धि प्राप्त करने तथा आर्थिक स्थिरता वृद्धि प्राप्त करने तथा आर्थिक स्थिरता वृद्धि प्राप्त करने में सहायक होता

है। कर एक ऐसा भुगतान है जो आवश्यक रूप से सरकार को उसके बनाए गये कामों के अनुसार दिया जाता है। 

7. भूगतान संतुलन को परिभाषित करें। (Define Balance of Payment.)

Ans. भुगतान शेष या भुगतान संतुलन का संबंध किसी देश के शेष विश्य के साथ हुए सभी आर्थिक लेनदेन अन्य देशों के साथ आर्थिक लेनदेन करता है।

इस लेन देन के फलस्वरूप उसे अन्य देशों से प्राप्तियों होती है तथा अन्य देशों को भुगतान भी करने पड़ते हैं। भुगतान संतुलन इन्हीं प्राप्तियों एवं भुगतानों का विवरण पत्र है।


GROUP B खंड- ‘ख’ | उत्तरीय प्रश्न) (Short answer type questions)


8. सीमांत उपभोग प्रवृत्ति को परिभाषित करें। (Define Marginal Propenrsty to Consume.)

Ans. सीमांत उपभोग प्रवृत्ति (MPC) आय में थोड़ी से वृद्धि के फलस्वरूप उपभोग में जो वृद्धि होती है उसे सीमात उपभोग प्रवृति (MPC) कहते हैं। उदाहरण के लिए जिस देश की कुल आय 1000 करोड़ रुपये की है यहाँ कुल आय 1100 करोड़ रुपये हो जाती है तो इससे उपभोग में वृद्धि होना स्वाभाविक है और उपभोग भी 900 करोड़ से बढ़कर 980 करोड़ रुपये हो जाता है। इस प्रकार आप में 100 करोड़ रुपये की वृद्धि होने से उपभोग में 80 करोड़ रुपये की वृद्धि होती है।

AC 80 crove AY रु.100 crore. MPC -=0.8-80%

9. कुल राष्ट्रीय उत्पाद (GNP) के आकलन में किन मदों को अपवर्जित माना गया है? (What are the items that are excluded in the estimation of GNP ?)

Ans. कुल राष्ट्रिय उत्पाद (GNP) के आकलन में निम्नलिखित मदों को अपवर्जित माना गया है-

(i) किसी विदेशी निवासी द्वारा देश में किया गया आय

(ii) भुगतान हस्तांतरण ।

(iii) पुराना सामान का मूल्य

(iv) वित्तिय संपत्ति जैसे बॉन्डस, अंश इत्यादि । T

10. व्यावसायिक बैंक तथा केन्द्रीय बैंक में क्या अन्तर है? (What are differences between commercial bank and central bank?)

Ans. व्यावसायिक बैंक या व्यापारिक बैंक तथा केंद्रीय बैंक में निम्नलिखित अंतर पाये जाते है-

व्यापारिक बैंक

केन्द्रीय बैंक

(i) व्यापारिक बैंक केंद्रीय बैंक द्वारा 

(i) नियंत्रित तथा नियमित होते हैं।

केन्द्रीय बैंक देश के सभी व्यापारिक बैंकों को नियंत्रित तथा नियमित करते हैं।

(ii) केंद्रीय बैंक ऐसा कोई जमा स्वीकार नहीं करते हैं।

(ii) व्यापारिक बैंक जनता का जमा स्वीकार करते हैं।

(iii) व्यापारिक बैंक का मुख्य

(iii) केन्द्रीय बैंक का उद्देश्य कल्यान करना है। उद्देश्य लाभ कमाना होता है।

11. उपभोग तथा आय में क्या संबंध है? (What is thea relationship between Consumption and Income?)

Ans. उपभोग तथा आय में संबंध यह है कि उपभोग यानि खर्च आय पर निर्भर करता है। अर्थात आय में वृद्धि से उपभोग में भी वृद्धि होती है। यह वृद्धि का दर आय के वृद्धि के दर से कम होता है। लोग अपनी संपूर्ण आय को खर्च नहीं करते। कुछ भविष्य के लिए बचा कर भी रखते हैं।

12. निवेश गुणक को परिभाषित करें। (Define Investment Multiplier.)

Ans. जब निवेश में वृद्धि होती है तो आप में उतनी ही वृद्धि नहीं होती जितनी कि निवेश में वृद्धि हुई है। बल्कि आय में निवेश की वृद्धि की तुलना में कई गुणा अधिक वृद्धि होती है जितने गुणा यह वृद्धि होती है। 

उसे ही गुणक कहते हैं। फैन्स का गुणक का सिद्धांत निवेश तथा आय में संबंध स्थापित करता है। इसलिए इसे निवेश गुणक कहते हैं।

13. प्रत्यक्ष कर के क्या गुण हैं ? (What are thenierits of Direct tax ?) 

Ans. प्रत्यक्ष कर के गुण निम्नलिखित हैं-

(i) न्यायपूर्ण प्रत्यक्ष कर न्यायपूर्ण होते हैं क्योंकि ये कर व्यक्तियों की करदान क्षमता के आधार पर लगाये जाते हैं। जैसे पनी वर्ग पर अधिकतम तथा निर्धनों पर कम !

(ii) मिष्ययिता प्रत्यक्ष कर में मितव्ययिता पायी जाती है। क्योंकि इन करों की वसूल करने में राज्य को अधिक व्यय नहीं करना पड़ता है। 

(iii) निश्चितता : प्रत्यक्ष करों में निश्चितता या गुण भी पाये जाते हैं, क्योंकि इन

करों के संबंध में करदाता को पूर्ण जानकारी रहती है। 

14. अंतिम वस्तु तथा मध्यवती वस्तु में क्या अंतर है? (What are the differences between Final goods and Intermediate goods ? )

Ans. अंतिम वस्तु वे वस्तुएँ होते हैं जो उपभोक्ता द्वारा अंतिम रूप में प्रयोग होती है। मध्यवर्ती वस्तु ये वस्तुएँ होती हैं जो उद्योगों द्वारा कब्ज माल के रूप में प्रयोग की जाती है। वस्तु के

GROUP C खंड- ‘ग’ | (दीर्घ उत्तरीय प्रश्न) (Long answer type questions) किन्हीं तीन प्रश्नों के उत्तर दें। (Answer any three questions) 

15. केन्द्रीय बैंक द्वारा साख नियंत्रण की विधियों की व्याख्या करें।

(Explain the methods of credit control by the central bank) Ans. एक देश के केंद्रीय बैंक मौद्रिक नीति के मुख्य उपकरणों की भागों में वर्गीकृत किया जाता है-

(1) मात्रात्मक उपाय (Quantitative instruments) (2) गुणात्मक उपाय (Qualitative instruments)

(1) मात्रात्मक उपाय-(i) बैक दर (Bank rate)- बैंक ब्याज की वह म्यूनतम दर है जिस पर देश का केंद्रीय बैंक व्यापारिक बैंकों को ऋण देने के लिए तैयार होता है।

(ii) खुले बाजार की क्रियाएं (Open market operation-OMO)-खुले बाजार क्रियाओं से अभिप्राय केंद्रीय बैंक द्वारा प्रतिभूतियों का खुले बाजार में बेचना तथा खरीदना है। 

(iii) नकद निधि (कोष) अनुपात (Cash Reserve Ratio-CRR)- इसका अर्थ बैंक की कुल जमाओं का वह न्यूनतम अनुपात है जो केंद्रीय बैंक के पास जमा रखना पड़ता है। 

(2) मौद्रिक नीति के गुणात्मक उपाय (Qualitative Instruments)- मौद्रिक नीति के यह उपाय अर्थव्यवस्था में साख के बैकल्पिक उपयोगों से संबंधित है। गुणात्मक उपाय साख के प्रवाह को आर्थिक क्रिया के निर्दिष्ट या विशेष क्षेत्र की ओर मोड़ते या सीमित करते हैं। गुणात्मक उपायों में कुछ सीमातक मात्रात्मक उपायों का भी अंश रहता है। मोटे तौर पर इन उपायों का वर्गीकरण इस प्रकार है-

(i) सीमांत आवश्यकता (Margin Require ment)- सीमांत वस्तु की जमानत पर दिये गए ऋण तथा जमानत वाली वस्तु के वर्तमान मूल्य के अंतर से है।

(ii) साख की राशनिंग (Rationing of credit) – साथ राशनिंग से अभिप्राय विभिन्न व्यावसायिक क्रियाओं के लिए साथ की मात्रा का कोटा निर्धारित करना है।

(iii) प्रत्यक्ष कार्यवाही (Direct Action)- केंद्रीय बैंक को उन बैंकों के विरुद्ध प्रत्यक्ष कार्य वाही करनी पड़ती है जो उसकी साथ नीति का पालन नहीं करते।

(iv) नैतिक प्रभाव (Moral Suation)-कभी कमी केन्द्रीय बैंक सदस्य बैंकों पर नैतिक प्रभाव डालकर उन्हें साख नियंत्रण के लिए अपनाई गई नीति के अनुसार काम करने के लिए अपनाई गई है। इस नीति के अनुसार काम करने के लिए सहमत कर लेता है।

16. राष्ट्रीय आय गणना की मूल्य जोड़ वृद्धि विधि की व्याख्या करें। (Explain value added method of calculating national income.)

Ans. उत्पाद विधि या मूल्य वृद्धि विधि-वह विधि है जो एक लेखा वर्ष में देश की घरेलू सीमा के अंतर्गत प्रत्येक उत्पादक उद्यम के उत्पादन में योगदान की गणना करके राष्ट्रीय आय को मापती है।

मूल्य वृद्धि की धारणा मूल्य वृद्धि किसी उथम के उत्पाद के मूल्य तथा इसके मध्यवर्ती उपयोग के मूल्य का अंतर है। मूल्य वृद्धि उत्पाद का मूल्य मध्यवर्ती उपयोग

17. प्रतिकूल भुगतान संतुलन को ठीक करने के उपायों की व्याख्याed Question Bank-XII (Arts) करें। (Explain the methods of correcting disequilibrium in the balance of payment.)

Ans. प्रतिकूल भुगतान संतुलन को दूर करने के गैर मौत्रिक उपाय-

(क) तटकर आयात प्रशुलक (Tarrif)

(ख) आयात अभ्यंश (Inport Quota )

(ग) आयात प्रतिस्थापन के उपाय तथा

(घ) निर्यात संवर्धन के कार्यक्रम तथा नीतियों आदि है।

आयातित वस्तुओं पर तटकर या आयात शुल्क लगाकर उनके मूल्य को ऊँचा कर दिया जाता है। जिससे आयातित वस्तुएँ महँगी हो जाती हैं। फलस्वरूप आयात के कमी आती है। इसके अतिरिक्त आयात प्रतिस्थापन वस्तुओं का निर्माण किया जाता है।

प्रतिकूल भुगतान संतुलन दूर करने के लिए मौद्रिक उपाय-

(i) प्रतिकूल भुगतान संतुलन को दूर करने के लिए सरकार गैर मौद्रिक के अतिरिक्त मौद्रिक उपाय का भी प्रयोग करती है। मौद्रिक उपाय के अंतर्गत अवमूल्यन, मौद्रिक संकुचन या अवस्फीति और विनिमय नियंत्रण आदि उपाय अपनाती है।

(ii) अवमूल्यन तथा मूल्य ह्रास का संबंध मुद्रा के बाह्य मूल्य में कमी से होता है। इसके विपरीत, मुद्रा संकुचन की नीति का उद्देश्य आंतरीक कीमत स्तर में कमी अर्थात मुद्रा के आंतरिक मूल्य में वृद्धि करना होता है। वस्तुओं की कीमतें कम हो जाने पर निर्यात को प्रोत्साहन मिलता है तथा आयात व अवस्फीति प्रतिकूल भुगतान संतुलन ठीक किया जा सकता है।

18. सार्वजनिक आय के विभिन्न साधनों की व्याख्या करें। (Explain the sources of public revenue.)

Ans. सार्वजनिक आय के स्रोतों को मोहे रूप में दो भागों में विभाजित किया जा सकता है-

(1) कर आय तथा 

(II) गैर-कर आय 

(1) कर आय-कर सार्वजनिक आय का सबसे प्राचीनतम स्रोत है। कर राज्य की अनिवार्य रूप से चुकायी जाने वाली राशि है। सरकार करों से प्राप्त राशि को जन कल्याण संबंधी कार्यों पर व्यय कर देती है। कर सामान्यतः दो प्रकार के होते हैं- 

(i) प्रत्यक्ष कर तथा (ii) अप्रत्यक्ष कर।

(i) प्रत्यक्ष कर (Direct Tax) – प्रत्यक्षकर वह होती है जिसका भार वही व्यक्ति वहन करता है जिस पर वह लगाया जाता है। ऐसे करों में आय कर लगाया जाता है। ऐसे करों में आय कर, मूल्य कर, संपत्ति कर, उपहार कर, व्यय कर, आदि शामिल है। 

(ii) अप्रत्यक्ष कर यह कर का भुगतान एक व्यक्ति द्वारा किया जाता है पर भार किसी अन्य व्यक्ति द्वारा वहन किया जाता है। इसमें बिक्री कर तथा उत्पादकर शामिल है।

(II) गैर कर आय- वे समस्त आय के स्रोत जो कर की श्रेणी में नहीं आते हैं उन्हें गेर कर आय कहा जाता है। इसमें शामिल है- शुल्क या फीस, लाइसे शुल्क, जुर्माना या संपत्ति जब्त, विशेष निर्धारण सार्वजनिक उपक्रम, उपहार या अनुदान, महसूल पत्र, मुद्र छाप कर इत्यादि । 

19. आधिक्य बजट तथा घाटे का बजट की व्याख्या करें। (Explain surplus budget and deficit budget.)

Ans. आधिक्य बजट-आधिक्य बजट वह बजट है जिसमें सरकारी व्यय की तुलना में सरकारी प्राप्तियाँ अधिक होती हैं। ऐसे बजट में कुल माँग की अधिकता के कारण अर्थव्यवस्था में मुद्रा स्फीति में वृद्धि होने पर अधिशेष क्जट की स्थिति उत्पन्न होती है। अधिशेष बजट कुल माग स्तर को कम करते हुए स्फीति कर अंतराल कम करता है।

घाटे का बजट : घाटे का बजट का मुख्य कारण यह है कि जब बाजारों में उत्पादों की संख्या बहुत अधिक हो जाती है और उपभोक्ताओं की कमी हो जाती है जिस कारण बाजारों की कीमत में गिरावट आ जाती है और औसत गिरावट भी बढ़ जाती है जिससे पूर्ण उत्पाद करने के लिए पूँजी की आवश्यकता होती है। यही कारण है कि उपभोक्ता के इर्द-गिर्द रहने के कारण घाटे का बजट हो जाता है।




Leave a Comment