JAC Board Class 12 History Previous Year Question Paper (PDF)

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

JAC Board Class 12 History Previous Year Question Paper (PDF), jac board previous year question paper class 12 history pdf


JAC Board Class 12 History Previous Year Question Paper


Class12th 
Book NCERT
SubjectHistory
Medium Hindi
Study MaterialsImportant questions answers
Download PDFJAC Board Class 12 History Previous Year Question Paper

इतिहास (HISTORY)- XII (TERM TIME: 1 Hour 30 Min.


JAC Board Class 12 History Previous Year Question Paper

1. हड़प्पा किस नदी के किनारे स्थित है ? (Harappa is situated in the bank of which river ?)

(1) सतलज (Sutlej)

(2) रावी (Ravi)

(3) सिन्धु (Sindhu)

(4) व्यास (Vyas) 

Ans. (2)

2.मोहनजोदान की खोज किया था (Mohenjodaro was excavated by)

(1) दयाराम साहनी (Dayaram Sahni)

(2) राखालदास बनर्जी (Rakhal Das Banerjee)

(3) जॉन मार्शल (Jolin Marshall)

(4) आर. एस. बिस्ट (R.S. Bisht)

Ans. (3)

3. हड़प्पा सभ्यता में हमें हल के साक्ष्य कहाँ से प्राप्त हुए हैं? (From where did we get evidence of polugh in Harappan civilisation ?)

(1) मोहन (Mohenjodaro)

(2) हया (Harappa)

(3) लोयल (Lothal)

(4) कालीबंगा (Kalibanga) 

Ans. (4)

4. सिन्धुघाटी सभ्यता का सबसे बड़ा शहर कौन-सा था ? (Which was the biggest town of Indus Valley Civilisation ?)

(1) हड़प्पा (Harappa)

(2) मोहनजोदड़ो (Mohenjodaro)

(3) लोपल (Lothal)

(4) कालीबंगा (Kalibanga) 

Ans. (2)

5. लोबल कहाँ स्थित है ? (Where is Lothal situated ?)

(1) राजस्थान ( Rajasthan)

(2) गुजरात (Gujarat) 

(3) पंजाब (Panjab)

(4) उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh)

Ans. (2) 

6. सिन्धु घाटी के निवासियों को किस धातु का ज्ञान नहीं था ? (People of Indus Valley did not have the knowledge of which metal )

(1) सोना (Gold)

(2) चांदी (Silver)

(3) लोहा (Iron)

(4) ताँबा (Copper)

Ans. (3)

7. धौलावीरा का खोज किसने किया ? (Who discovered Dholavira?).

(1) आर. डी. बनर्जी (R.D. Banerjee)

(2) जे. पी. जोशी (J.P. Joshi) 

(3) आर. एस. बिस्ट (R.S Bisht)

(4) एम.एस. बत्स (M.S. Vatsa)

Ans. (3)

8. महाजनपद कितने थे ? (How many Mahajanapadas were there ?)

(1) 12

(2) 14

(3) 16

(4) 18 

Ans. (3) 

9. पाटलिपुत्र की स्थापना की थी (Pataliputra was founded by)

(1) बिम्बिसार (Bimbisara)

(2) उदायिन (Udayin) 

(3) अशोक (Ashoka)

(4) चन्द्रगुप्त (Chandragupta)

Ans. (2)

10. मौर्य साम्राज्य का संस्थापक कौन था ? (Who was the founder of Mauryan empire ?)

(1) अशोक (Ashoka) 

(2) बिन्दुसार (Bindusara)

(3) महेन्द्र (Mahendra)

(4) चन्द्रगुप्त मौर्य (Chandragupta Maurya)

Ans. (4)

11.कलिंग का युद्ध हुआ (War of kalinga took place in)

(1) 260 ई.पू. में (BC)

(2) 261 ई.पू. में (BC)

(3) 305 ई.पू. में (BC))

(4) 350 ई.पू. में (BC) 

Ans. (2) 

12. इंडिका की रचना किसने की ? (Who wrote Indica ?)

(1) मेगस्थनीज (Megasthenes) 

(2) कौटिल्य ( Kautilya) 

(3) क्षेमर (Homer)

(4) अश्वघोष (Ashvaghosha)

Ans. (1)

13. प्राचीन भारत में अभिलेख लिखने की शुरुआत किस राजवंश ने की ? (In ancient India which dynasty started writing inscriptions)

(1) गुप्त राजवंश (Gupta dynasty)

(2) मौर्य राजवंश (Maurya dynasty)

(3) शुंग राजवंश (Sunga dynasty),

(4) नंद राजवंश (Nanda dynasty)

Ans. (2) 

14. शक संवत् का आरम्भ किसने किया ? (Who started] Shala Samvat ?)

(1) अशोक (Ashoka)

(2) चन्द्रगुप्त (Chandragupta)

(3) कनिष्क (Kanishka)

(4) हर्षवर्धन (Harshavardhana)

Ans. (3)

15. नालंदा विश्वविद्यालय की स्थापना किसने किया? (Who established Nalanda University ?)

(1) कुमारगुप्त (Kumargupta)

(2) समुद्रगुप्त (Samudragupta)

(3) रामगुप्त (Ramagupta)

(4) श्रीगुप्त (Shrigupta) 

Ans. (1)

16. भारत का शेक्सपीयर किसे कहा जाता है ? (Who is called as Shakespeare of india ?)

(1) अश्वघोष (Ashwaghosha)

(2) कालिदास (Kalidasa)

(3) वाणभट्ट (Banabhatta)

(4) कल्हण (Kalhana) 

Ans. (2)

17. निम्नलिखित में से किसने सबसे पहले भारत में स्वर्ण सिक्के जारी किये ? (Among the following, who introduced gold coins for the first time in India ? )

(1) गुप्तो मे (Guptas)

(2) कुषाणों ने (Kushana)

(3) हिन्द-यूनानियों ने (Indo-Grecks)

(4) मीयों ने (Mauryans)

Ans. (3)

18. महात्मा बुद्ध का जन्म कहाँ हुआ था ? (Where was Mahatma Buddha born ?)

(1) सुम्बिनी (Lumbini)

(2) वैशाली (Vaishali)

(3) गया (Gaya)

(4) सारनाथ (Sarnath) 

Ans. (1)

19. स्तूप का सम्बन्ध है (Stupa is related to)

(1) जैनों से (Jains))

(2) बौद्धों से (Buddhists)

(3) हिन्दुओं से (Hindus)

(4) सिक्खों से (Sikhs) Ans. (2)

20. जैन धर्म के प्रथम तीर्थकर थे (First Tirthankar of Jain Dharma was)

(1) पार्श्वनाथ (Parshwanatha) 

(2) अजितनाथ (Ajitnath)

(3) महावीर (Mahavira) 

(4) देव (Rishabhdev) 

Ans. (4)

21. महावीर के बचपन का नाम क्या था ? (What was the childhood name of Mahavira ?)

(1) सिद्धार्थ (Siddhartha)

(2) बर्द्धमान (Vardhamana)

(3) देश (Devabrata)

(4) देवदास (Devdasa) 

Ans. (2)

22. किस पेड़ के नीचे महावीर को ज्ञान प्राप्त हुआ ? (Mahavira got enlightened under which tree?)

(1) नीम (Neem)

(2) सात ( Saal)

(3) पीपल (Peepal)

(4) सागवान (Teak) 

Ans. (2) 

23. साँची मध्य प्रदेश के किस शहर में स्थित है ? (Sanchi is situated in which town of Madhya Pradesh ?)

(1) भोपाल (Bhopal) 

(2) सागर (Sagar)

(3) रायसेन (Raisen)

(4) विदिशा (Vidisha) 

Ans. (1)

24. विजयनगर साम्राज्य की स्थापना हुई थी सन् (Vijayanagara the kingdom was founded in the year)

(1) 1206 ई. (AD)

(2) 1236 ई. (AD)

(3) 1565 ई. (AD)

(4) 1336 ई. (AD) 

Ans. (4)

25. गोपुरम क्या है? (What is Gopuram ?)

(1) भूराजस्व का एक प्रकार (A type of land revenue)

(2) गाय का एक प्रकार (A type of cow)

(3) मंदिर का मुख्य प्रवेश द्वार (The main gate of the temple)

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (3)

26. प्रसिद्ध विरुपाक्ष मंदिर कहाँ स्थित है ? (Where is famous Virupaksha temple situated ?)

(1) पुरी (Puri)

(2) हम्पी (Hampi)

(3) चिदाम्बरम् (Chidambaram)

(4) तंजौर (Thanjavur) 

Ans. (2)

27. भक्ति आन्दोलन को दक्षिण भारत से उत्तर भारत कौन लाये ? (Who brought the Bhakti movement from South India to North India?)

(1) शंकर देव (Shankar Dev)

(2) कबीर (Kabir)

(3) रामानन्द (Ramanand)

(4) रामानुजाचार्य (Ramanujacharya)

 Ans. (3)

28. ‘पाहन पूजे हरि मिले’ किसकी काव्य पंक्ति है ? (‘Pahan Puje Hari Mile’ Who write this line ?)

(1) रहीम (Rahim)

(2) सूरदास (Surdas)

(3) रैदास (Raidas)

(4) कबीरदास ( Kabirdas) 

Ans. (4)

29. किसका जन्म स्थान तालवंडी था ? (Whose birthplace was Talwandi ?)

(1) कबीरदास ( Kabirdas) 

(2) गुरु नानक ( Guru Nanak)

(3) रामानन्द ( Ramanand) 

(4) इनमें से कोई नहीं

Ans. (2)

30. बंगाल का प्रसिद्ध संत कौन था ? (Who was the famous saint of Bengal ?)

(1) रैदास (Raidas)

(2) बाबा रामदास (Baba Ramdas)

( 3 ) चैतन्य महाप्रभु ( Chaitanya Mahaprabhu)

(4) तुकाराम (Tukaram)

Ans. (3)

31. खानकाह का क्या अर्थ है ? (What is the meaning of Khankah ?)

(1) आश्रम (Ashram)

(2) गुरु (Guru)

(3) मुद्रा (Mudra)

(4) शिष्य (Disciple) 

Ans. (1)

32. निम्नलिखित में से कौन एक सुफी संत नहीं है ? (Who among the following is not a Sufi saint?

(1) बाबा फरीद (Baba Farid) 

(2) मीराबाई (Meerabai)

(3) कुतुबुद्दीन वख्तियार काकी (Qutbuddin Bakhtiar Kaki)

(4) मुइनुद्दीन चिश्ती (Muinuddin Chisti)

Ans. (2)

33. शेख निजामुद्दीन औलिया का दरगाह स्थित है (Dargah of Sheikh Nizamuddin Auliya is located in)

(1) आगरा में (Agra)

(2) दिल्ली में (Delhi)

(3) फतेहपुर सीकरी में (Fatehpur Sikri)

(4) अजमेर में (Ajmer)

Ans. (2)

34. पानीपत का प्रथम युद्ध कब लड़ा गया था ? (When was first battle of Panipat fought ?)

(1) 1526 ई. में (AD)

(2) 1565 ई. में (AD)

(3) 1556 ई. में (AD)

(4) 1760 ई. में (AD) 

Ans. (1)

35. मुगल साम्राज्य का संस्थापक कौन था ? (Who was the founder of Mughal Empire ?)

(1) अकबर (Akbar)

(2) यावर (Babar)

(3) हुमायूँ (Humayun)

(4) जहाँगीर (Jahangir) 

Ans. (2)

36. ‘बाबरनामा’ किस भाषा में लिखा गया है ? (‘Babarnama’ is written in which language?)

(1) फारसी (Persian)

(2) उर्दू (Urdu)

(3) तुर्की (Turkish )

(4) अरबी (Arabic) 

Ans. (3)

37. अकबर ने जजिया कर को समाप्त कर दिया (Who wrote ‘Akbarnama ?).

(1) अबुल फजल (Abul Fazl)

(2) अकबर ( Akbar)

(3) फैज़ी (Faizi)

(4) अलवरुनी (Al-biruni) 

Ans. (3)

38. ‘अकबरनामा’ किसने लिखा है ? (Who wrote ‘Akbarnama’ ?)

(1) अबुल फजल (Abul Fazl)

(2) अकबर ( Akbar)

(3) फैजी (Faizi)

(4) अलवरुनी (Al-Biruni) 

Ans. (1).

39. सर्वप्रथम किस मुगल शासक ने तम्बाकू का सेवन किया ? (First of all which Mughal ruler consumed tobacco ?)

(1) बाबर (Babar)

(2) हुमायूँ (Humayun)

(3) अकबर (Akbar)

(4) जहाँगीर (Jahangir) 

Ans. (3)

40. मुगल प्रशासन में ‘जिला’ को किस नाम से जाना जाता था ? (The term ‘district’ was known by which name in Mughal administration ?)

(1) सुबा (Suba)

(2) संस्कार (Sarkar)

(3) अहार (Ahar)

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (2)


Group – A खंड- ‘क’


(अति लघु उत्तरीय प्रश्न) (Very short answer type questions) 


1. “भारत छोड़ो आंदोलन” कब और कहाँ से प्रारम्भ हुआ ? (When and where did “Quit India Movement” start ?) 

Ans. भारत छोड़ो आंदोलन 1942 बम्बई (मुम्बई) से प्रारम्भ हुआ। 

2. पानीपत का दूसरा युद्ध कब और किसके बीच लड़ा गया ? ( whom did the second battle of Panipat take place ) 

Ans. पानीपत का द्वितीय युद्ध 5 नवम्बर 1556 ई. को हेमू और अकबर के बीच लड़ा गया था।

3. संविधान निर्मात्री सभा के स्थायी अध्यक्ष कौन थी ? (Who was the permanent speaker of the Constituent Assembly ?) 

Ans. संविधान निर्मात्री सभा के स्थायी अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद थे।

4. संथाल विद्रोह के प्रमुख नेता कौन थे ? (Who was the main leader of Santhal revolt ?)

Ans. संथाल विद्रोह के प्रमुख नेता सिद्ध कान्हू 

5. जालियाँवाला बाग हत्याकांड कब और कहाँ हुआ था ? (When and where did Jallianwala Bagh massacre take place ?)

Ans. जालियाँवाला बाग हत्याकांड 1919 ई. में पंजाब के अमृतसर में हुआ था। 

6. 1857 की क्रांति के समय भारत का गवर्नर जनरल कौन था ? (Who was the Governer General of India at the time of revolt of 1857 ?) 

Ans. लार्ड डल

7. ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कम्पनी ने भारत में व्यापारिक गतिविधि का प्रथम केन्द्र की स्थापना कहाँ की ? (Where was the first centre of trading activity established in India by British East India company ?) 

Ans. ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कम्पनी की स्थापना भारत में 1600 ई. में हुई थी। इस कंपनी का भारत में व्यापारिक गतिविधि का प्रथम केन्द्र सूरत (गुजरात) था।


Group B खंड- ‘घ’ (लघु उत्तरीय प्रश्न) (Short answer type questions) 


8. मनसबदारी व्यवस्था से आप क्या समझते हैं ? (What do you mean by Mansabdari system?)

Ans. मुगल प्रशासनिक व्यवस्था के शीर्ष पर एक सैनिक नौकरशाही तंत्र (मनसबदारी) था जिस पर राज्य के सैनिक व नागरिक मामलों की जिम्मेदारी थी। कुछ मनसबदारों को नकदी भुगतान किया जाता था, जबकि उनमें से ज्यादातर को सामान्य के अलग-अलग हिस्सों में राजस्व भुगतान किया जाता था, जबकि उनमें से ज्यादातर को साम्राज्य पर उनका तबादला किया जाता था।

9. प्रत्यक्ष कार्यवाही दिवस कब और क्यों मनाया गया था ? (When and why was Direct Action Day celebrated ?)

Ans. मुस्लिम लीग ने 16 अगस्त, 1946 में प्रत्यक्ष कार्यवाही दिवस मनाया गया था। प्रत्यक्ष कार्यवाही दिवस इसलिए मनाया गया था कि भारत का विभाजन हो सके और एक अलग पाकिस्तान देश का गठन किया जा सके। इससे मुस्लमानों का हित भी सुरक्षित रखा जा सके।

10. 1857 की क्रांति के तात्कालिक कारणों की चर्चा करें। (Discuss the immediate causes of the revolt of 1857) 

Ans. तात्कालिक कारण- 1857 के आरम्भ में सेना में नई रॉयल एनफील्ड राइफल प्रचलित किया गया। इसमें प्रयुक्त होने वाली कारतूस को इस्तेमाल करने से पहले इसे दांत से काटा जाता था। कारतूस पर गाय और सूअर की चर्बी की टोपी लगी रहती थी। यह भारतीय सेना के धार्मिक भावनाओं की क्रूर अवहेलना थी। कारतूस की घटना ने बारूद के ढेर में चिंगारी लगाने का कार्य किया और विद्रोह फूट पड़ा।

वास्तव में 1857 के विद्रोह का तात्कालिक कारण कारतूसों में लगी सूअर और गाय की चर्बी थी। नयी एनफील्ड बंदूकों में गोली भरने से पूर्व कारतूसों को दाँत से छीलना पड़ता था। हिन्दू और मुसलमान दोनों ही क्रमशः गाय और सूअर की चर्बी को अपने-अपने धर्म के विरुद्ध समझते थे। अतः उनका भड़कना स्वाभाविक था। अतः कारतूस की घटना ने बारूद के ढेर में चिनगारी लगाने का काम किया और विद्रोह फूट पड़ा।

11. गांधीजी के चम्पारण सत्याग्रह पर प्रकाश डालें। (Throw light Champaran Satyagraha of Gandhiji)

Ans. भारत को अंग्रेजों की गुलामी से आजाद कराने के लिए महात्मागांधी ने विभिन्न आन्दोलन और सत्याग्रह किये जिसमें चम्पारण सत्याग्रह का भी प्रमुख स्थान है। चम्पारण का किसान आन्दोलन अप्रैल 1917 में हुआ था। देश के स्वतंत्रता आन्दोलन में चम्पारण सत्याग्रह मील का पत्थर प्रमाणित हुआ था। 

गाँधी जी के चम्पारण सत्याग्रह की पृष्ठभूमि, यह थी कि तात्कालिक समय में बिहार के चम्पारण क्षेत्र में यूरोपियन और अंग्रेज निलहे यहाँ के किसानों से नील की खेती कराते थे और किसानों पर अत्याचार करते थे। किसानों को अपने श्रम का उचित मूल्य नहीं मिलता था 

इसलिए महात्मा गांधी ने चम्पारण में किसानों के आहवान पर सत्याग्रह किया था। जिससे कि अंग्रेजों द्वारा भारतीयों से नील की खेती नहीं करायी जा सके और किसानों की स्थिति में सुधार हो सके इसलिए महात्मा गाँधी ने चम्पारण सत्याग्रह शुरू किया था। यह सत्याग्रह अंग्रेजों के विरुद्ध एक प्रतिरोध था।

12. हड़प नीति क्या थी ? (What was the doctrine of lapse ?) 

Ans. हड़प नीति या राज्य अपहड़प नीति लार्ड डलहौजी द्वारा अपनाया गया था। लॉर्ड डलहोजी ने उस भारतीय राज्य को अंग्रेजी राज्य में मिला चाहता था। जिसका कोई वास्तविक वारिस नहीं था। यही लॉड डलहौजी की नीति थी। 

इसका प्रमुख उदाहरण झांसी राज्य की थी क्योंकि रानी लक्ष्मीबाई कोई सन्तान नहीं था इसलिए अंग्रेज झांसी राज्य को अपने राज्य मे चालता था। इसके चलते ही रानी लक्ष्मीबाई और अंग्रेज के बीच युद्ध हुआ। 

यह युद्ध भारतीय स्वतंत्रता आन्दोलन का एक प्रमुख उदाहरण माना जाता है। 

13. भारतीय संविधान के दो प्रमुख अवसाद कौन से थे ? (Wha were the main two dissents of the Constitution of India.)

Ans. भारतीय संविधान के दो प्रमुख अवसाद निम्नलिखित थे 

(i) भाषा संबंधी अवसाद-हिन्दुस्तानी भाषा के रूप में हिन्दी को राष्ट्रभाष बनाये जाने के अवसाद। साथ ही भारत को प्रजातांत्रिक देश का गठन करने भी अवसाद था।

(ii) अल्प संख्या संबंधी अवसाद- अल्पसंख्यक मुसलमानों को एक अ राष्ट्र पाकिस्तान बनाये जाने के लिए भारत का विभाजन करके दो राष्ट्र भारत और पाकिस्तान बनाये जाने के संबंध में अवसाद। साथ ही साम्प्रदायिकता समस्या के संबंध में अवसाद प्रमुख थे। साथ ही देशी रियासतों के विलय है। संबंध में भी अवसाद थे।

14. भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में “डांडी मार्च” के महत्व का वर्णन करें। (भारत में “दांडी मार्च” के महत्व पर चर्चा करें

Ans. राष्ट्रीय स्वतंत्रता आन्दोलन में डान्डी मार्च का महत्त्व-

(i) इस घटना के फलस्वरूप महात्मा गाँधी को विश्व प्रसिद्धि प्राप्त हुई। इस यात्रा को यूरोप और अमेरिका के प्रेसों ने व्यापक कवरेज किया।

(ii) डांडी मार्च से अंग्रेजों को यह आभास हुआ कि अब भारत पर उनका राज अधिक दिनो तक नहीं चल सकता और भारतीयों को सत्ता में हिस्सा देना पड़ेगा। (iii) नामक एक मानव जीवन का महत्त्वपूर्ण हिस्सा था अतः नमक आन्दोलन ने सभी भारतीयों का ध्यान इस ओर खींचा और यह आन्दोलन देशव्यापी हो गया। (iv) यह पूर्ण रूप से राष्ट्रीय स्तर का आन्दोलन था जिसमें औरतों ने भी -धड़कर भाग लिया। कमला देवी स्वयं उन असंख्य औरतों में से थी जिन्होंने नमक कानून का उल्लंघन करते हुए गिरफ्तारी दी थी।

(v) नमक कानून से देश की गरीब जनता त्रस्त थी। इस आन्दोलन ने समाज के सभी वर्ग शहरी-ग्रामीण, गरीब-अमीर महिलाओं, पुरुषों एवं छात्रों को अंग्रेजों के विरुद्ध कर दिया।

Group C खंड- ‘ग’ | (दीर्घ उत्तरीय प्रश्न) (दीर्घ उत्तरीय प्रश्न)

15. 1857 के विद्रोह की असफलता के प्रमुख कारणों की चर्चा करें। (1857 के विद्रोह की विफलता के मुख्य कारणों पर चर्चा करें।)

Ans. 1857 के विद्रोह की असफलता के कुछ महत्त्वपूर्ण कारण इस प्रकार है-

(i) यह विद्रोह किसी सकारात्मक विचारधारा से प्रेरित नहीं थी। इसके पीछे कोई उच्चतर राजनीतिक प्रणाली स्थापित करने की विचारधारा भी नहीं थी। विद्रोह की न

तो कोई सुनियोजित कार्यक्रम था और न धन की कोई स्थायी व्यवस्था थी। विद्रोहियों का केवल एक ही मकसद था विदेशी शासन को समाप्त करना।

(ii) विद्रोही नेताओं में राजनीतिक नेतृत्व, सैनिक अनुभव और सामरिक दूरदृष्टि का अभाव था। उनमें से किसी नेता को दिल्ली के पतन के परिणामों का आभास नहीं था और उनके द्वारा इसकी संयुक्त सुरक्षा के लिए कोई उपाय नहीं किए गए।

(iii) विद्रोहियों में अनुशासन की कमी थी और उनकी निष्ठाएँ स्थानीय शक्तियों के प्रति ज्यादा थी। बौद्धिक दृष्टि से वे अपनी शत्रु की तुलना में कुछ भी नहीं थे। अंग्रेज सैन्य तकनीक, आधुनिक विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पर आधारित थी जबकि विद्रोहियों ने पारम्परिक हथियारों तीर-धनुष भाले, बछें आदि का प्रयोग किया। ऐसी स्थिति में विद्रोहियों की असफलता निश्चित थी। अंग्रेजों ने रेल, सड़क, डाक एवं तार टेलीआफ जैसे परिवहन एवं नए संचार माध्यमों का यथासंभव प्रयोग किया जिससे उन्हें अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करने में मदद मिली। विद्रोही संचार के नए साधनों का उपयोग करने में पीछे रहे।

(iv) रणनीति और रण-कौशल की दृष्टि से भी अंग्रेजी सेनाएं भारतीय विद्रोहियों बहुत आगे थे। तत्कालीन दुनिया के सर्वश्रेष्ठ एवं सुगठित ब्रिटिश सरकार के से

आदेशों के अधीन कार्य करती थी। ब्रिटिश सरकार के पास जनशक्ति के पर्याप्त स्रोत के साथ-साथ प्रचुर संसाधन उपलब्ध थे।

(v) विडियों में ऐसा कोई एक महान नेता नहीं था जो इधर उधर बिखरे हुए तों की ऐसी प्रबल शक्ति के रूप में संगठित कर सके जिसकी एक सुनिश्चित नीति और सुनिर्धारित कार्यक्रम हो। विद्रोही नेताओं की गतिविधियों भी उनके स्यायों के कारण सीमित ही रही।

(vi) इस विशेष में बड़े जमीदार और बुद्धिजीवी मध्यम वर्ग ने बोई रुचि नहीं ली और न ही उनका समर्थन किया। उनका तटस्थ रहना के लिए घातक साबित हुआ।

16. स्थायी बंदोवस्त व्यवस्था की प्रमुख विशेषताओं के बारे में लिखें (Write about the main characteristics of the permanent settlement system.)

Ans. स्थायी बन्दोबस्त व्यवस्था एक ऐसी व्यवस्था थी भूमि जमीन्दारों को ( स्थायी रूप से दे दी जाती थी और उन्हें एक निश्चित धन राशि सरकारी कोश मैं जमा करना पड़ता था सबसे पहले बंगाल में 1793 ई. में स्थायी बन्दोबस्त 1 व्यवस्था लागू किया गया था।

स्थायी बन्दोवस्त व्यवस्था की प्रमुख विशेषताएँ ये हैं-

(i) इससे लगान की राशि निश्चित हो जाने के कारण मनमाना लगान देने किसानों को छुटकारा मिला।

(ii) स्थायी व्यवस्था के बाद नये जमींदार बने और उन्हें जमींदारी का वंशानुगत अधिकार मिला जिससे वे अंग्रेजी सरकार के भक्त बन गये। इससे अंग्रेजी सरकार को राजनीतिक लाभ मिला। सुविधा हो गई।

(iii) कम्पनी की लगान की राशि निश्चित हो गई जिससे उसे बजट बनाने में

(iv) भारत में मालगुजारी की आधुनिक व्यवस्था शुरू हुई। 

(v) कम्पनी को मालगुजारी वसूल करने के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति नहीं करनी पड़ी जिससे उन्होंने अपने कर्मचारियों को दूसरे कामों में लगाया।

17. मुगल प्रशासन का विवरण दें। (Describe Mughal Administration.)

Ans. मुगल प्रशासन मुगल प्रशासन में सूबों को जिला या सरकार में बाँटा गया। यहाँ के प्रमुख अधिकारी फौजदार व अमालगुजार थे। अमालगुजार को करोड़ों भी कहा जाता था जो कि बतिकवी (लिपिक) व खजानदार के माध्यम से कार्य करता था। परगने का शासन सरकार से नीचे की इकाई परगना थी। मुगल प्रशासन में केन्द्रीय प्रशासन व्यवस्था भी थी। 

इसमें प्रधानमंत्री होता था जो सम्राट को सलाह देने के साथ ही प्रशासन के सभी विभागों का निरीक्षण करता था। केन्द्रीय प्रशासन में वकील मुतलक भी होता था जिसको राजस्व और वित्तीय मामलों पर एकाधिकार प्राप्त था। साथ ही दीवाने कुल की भी व्यवस्था थी जो वित्त और राजस्व का सर्वोच्च अधिकारी था। उसकी सहायता के लिए दीवाने खालसा और दीवाने मुस्तफी होते थे।

मुगलकाल में सैनिक विभाग के मुखिया को मीरबख्शी कहा जाता था। बादशाह के घरेलू ओर व्यक्तिगत मामलों का प्रधान मीर-ए-समानिया होता था। सदर सुदुर दान सम्पति का नियामक निरीक्षक और सम्राट का धार्मिक सलाहकार होता था। शिक्षण संस्थाओं को भूमि दान करना, दानपुण्य की व्यवस्था करना इसका महत्वपूर्ण कर्त्तव्यय था। काजेऊल का बजात प्रधान काजी था और न्याय विभाग का प्रमुख होता था। भीर-ए-अतिरा तोपखाने का अधीकक्षक होता था।

मुगल प्रशासन व्यवस्था में मोहतहसीब भी होता था। इसका प्रमुख काम शरियत के विरूद्ध कार्य करने वाले को रोकना तथा प्रजा के नैतिक मूल्यों को ऊपर उठाना था। मुगल काल में गुप्तचर और डाक विभाग का प्रमुख दारोगा-ए-ढोक चौकी होता था। इसके अतिरिक्त मुगल प्रशासन में कुछ अन्य अधिकारी भी होते थे जैसे वाक्य नवीस, बतिकची मुशरफ, मुश्तौफी, दारोगा-ए-टकसाल और मीर-ए-बहर इत्यादि अधिकारी भी थे।

प्रांत का सर्वोच्च अधिकारी सुवेदार होता था। प्रान्तीय दीवान भी होता था जो अर्थविभाग का संचालक होता जो आय और व्यय का लेखा-जोखा रखता था। इसके अतिरिक्त प्रांतीय कोतवाल प्रांतिय बख्शी इत्यादि भी होते थे। जिला शासन व्यवस्था में कई प्रमुख अधिकारी होते थे। जैसे आमालगुजार, खजानदार इत्यादि होते थे। 

सरकार से नीचे के इकाई परगना थी जिसमें शिकदार और आमिर प्रमुख अधिकारी होते थे। ग्राम प्रशासन व्यवस्था में मुकदम व्यवस्था में और चौधरी होते थे। मुगलकाल में मनसबदारी व्यवस्था भी थी। मुगलों की सैनिक व्यवस्था मजबूत थी जिसमें पैदल सेना, घुड़सवार सेना, हाथी सेना, तोपखाना और नी सेना इत्यादि होते थे।

18. असहयोग आंदोलन का प्रारंभ, कार्यक्रम तथा प्रगति का वर्णन करें। (Describe the starting programme and progress of the Non-cooperation movement.)

Ans. असहयोग आन्दोलन का प्रारम्भ महात्मा गाँधी ने अगस्त 1920 में किया था। असहयोग आन्दोलन के कार्यक्रम निम्नलिखित दे बहिष्कार कार्यक्रम – 

(1) सरकारी स्कूल और अदालतों का बहिष्कार।

(ii) विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार 

(घ) 1914 के माले मिन्टों सुधारों के सुझावों के अनुसार काउंसिल चुनावों का बहिष्कार 

(iv) स्थानीय निकायों में नामांकित सीटों से भारतीयों के सदस्यों का इस्तीफा 

(v) उपाधियों और मानद कार्यालयों का समर्पण 

(vi) सरकार द्वारा आयोजित कार्यों में भाग लेने से इंकार करना।

स्वदेशी कार्यक्रम 

(1) हाथ से कताई और हाथ की बुनाई को बढ़ावा देकर स्वदेशी और खादी की लोकप्रियता बढ़ाना 

(ii) भारतीय समाज से अस्पृश्यता को दूर करना और हरिजनों के कल्याण के लिये पूर्ण उपाय करना 

(iii) महिलाओं की मुक्ति और उत्थान करना।

19. भारत के राजनैतिक एकीकरण की समस्या से आप क्या समझते। हैं ? भारत ने इस समस्या का समाधान किस प्रकार किया ? (What do you mean by the political integration of India? How did India इस समस्या का समाधान करें?)

Ans. भारत के राजनैतिक एकीकरण की समस्या का अर्थ यह है कि देशी रियासतों को भारत में किस प्रकार मिलाया जाये। अतः भारत देशी रियासतों के विलीनीकरण की समस्या ही भारत के स्वतंत्र होने के कुछ समय के बाद ही यहाँ पर राजनीतिक एकीकरण की समस्या उत्पन्न हो गयी थी।

भारतीय स्वतंत्रता के अन्तर्गत देशी रियासतों से ब्रिटिश प्रभुता 15 अगस्त, 1947 को समाप्त हो गयी थी। सिद्धांततः इसका तात्पर्य यह था कि अंग्रेजों द्वारा भारत छोड़ देने पर राज्यों की अपनी प्रभुसत्ता होगी तथापि, कांग्रेस ने भारत में स्वतंत्रता की घोषणा करके भारत से अलग रहने वाले किसी राज्य के अधिकारी को नहीं माना। स्वतंत्रता प्राप्ति से एक माह से कम अवधि में ही देशी रियासतों की समस्या ने एक अन्य गंभीर चिंता उत्पन्न कर दी।

भारत ने राजनैतिक एकीकरण की समस्या का समाधान करने के लिए आवश्यक कदम उठाया। उस समय के भारत के विभिन्न नेताओं ने राजनैतिक एकीकरण की समस्या का समाधान करने के लिए भारत में देशी रियासतों का विलय करने की योजना बनायी थी। सरदार वल्लभ बाई पटेल तथा वी. पी. मेनन ने सफलतापूर्वक देशी रियासतों का एकीकरण किया था।

सरदार वल्लभ भाई पटेल जैसे राजनीतिज्ञों ने रियासतों के राजाओं को प्रेरित किया कि भारतीय संघ में शामिल होना ही उनके हित में है। लम्बी वातचीत के बाद हैदराबाद, जूनागढ़ और कश्मीर के अतिरिक्त भौगोलिक रूप से भारत के साथ सम्बद्ध देशी रियासतों के सभी शासकों ने 15 अगस्त, 1947 से पूर्व भारत के साथ विलय समझौते पर हस्ताक्षर कर दिये।

जूनागढ़ का नवाब पाकिस्तान के साथ विलय चाहता था लेकिन उसके विरुद्ध में हुए जन विद्रोह के कारण उसे भाग कर पाकिस्तान जाना पड़ा। जब पाकिस्तानी सैनिकों ने कश्मीर पर आक्रमण कर दिया तब अक्टूबर 1947 में कश्मीर के महाराज ने कश्मीर का भारत के साथ विलय कर दिया। हैदराबाद के निजाम के विरुद्ध सैनिक कारवाई की गयी तथा आंतरिक अराजकता के दबाव में आकर उसे विवश होकर भारतीय संघ में शामिल होना पड़ा।

इस प्रकार भारत के राजनैतिक एकीकरण की समस्या का समाधान किया गया। जो एक कठिन कार्य था। फिर भी भारत में देशी रियासतों का विलय 1947-48 ई. के बीच किया गया था।




Leave a Comment