Ncert Political Science Class 12 Important Questions and Answers in Hindi PDF Download

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

Political Science Class 12 Important Questions and Answers in Hindi PDF Download, Political Science Class 12 Important Questions and Answers, Political Science Class 12 Important Questions in Hindi

Political Science Class 12 Important Questions and Answers in Hindi

Class12th 
Book NCERT
SubjectPolitical Science
Medium Hindi
Study MaterialsImportant questions answers
Download PDFPolitical Science Class 12 Important Questions and Answers in Hindi

Ncert Political Science Class 12 Important Questions and Answers in Hindi PDF Download

Ncert Political Science Class 12 Important Questions and Answers in Hindi

1. बगदाद संधि पर किस वर्ष हस्ताक्षर हुए थे ? (In which year was the Bagdad Pact signed ?)

(1) 1965

(2) 1975

(3) 1955

(4) 1959 

Ans. (3)

2. बर्लिन की दीवार कब खड़ी की गई ? (When was the Wall of Berlin built ?)

(1) 1960

(2) 1965

(3) 1962

(4) 1961 

Ans. (2)

3. किस देश ने नाटो में अमेरिकी नेतृत्व का विरोध किया था ? (Which country had opposed American dominance in NATO ?)

(1) फ्रांस (France)

(2) इटली (Haly) 

(3) ब्रिटेन (Britain)

(4) पश्चिम जर्मनी (West Germany)

Ans. (1)

4. पहला गुटनिरपेक्ष सम्मेलन में कितने देश भाग लिये थे ? (How many countries participated in first Non-Aligned Summit ?)

(1) 54

(2) 25

(3) 75

(4) 116 

Ans. (2)

5. क्यूबा मिसाइल संकट किस वर्ष उत्पन्न हुआ था ? (In which year did Cuba Missile Crisis emerge?)

(1) 1964

(2) 1971

(3) 1950

(4) 1962 

Ans. (4)

6. बोल्शेविक क्रान्ति कब हुई थी ? (When was the Bolshevik revolution held ?)

(1) 1914

(2) 1917

(3) 1911

(4) 1989 

Ans. (2)

7. सोवियत संघ का विघटन कब हुआ ? (When was the Sovict Union disintegrated ?)

(1) 1991

(2) 1990

(3) 1993

(4) 1989 

Ans. (1)

8. परमाणु अप्रसार संधि पर किस वर्ष हस्ताक्षर हुए थे ? (In which year was the Nuclear Non-Proliferation Treaty (NPT) signed ?)

(1) 2005 

(2) 1972 

(3) 2008 

(4) 1968 

Ans. (4) 

9. ग्लासनोस्त और पेरेस्रोइका किसके प्रस्तुत किया था ? (Who propounded the Glasnost and the Perestroika ?).

(1) लेनिन (Lenin)

(2) गोर्बाचेव (Gorbachey)

(3) स्टालिन (Stalin)

(4) येल्तसिन (Yelisin) 

Ans. (2)

10. सोवियत संघ में कितने संघीय गणराज्य थे ? (How many Federal Republics were in Soviet Union ?)

(1) 8

(2) 10 

(3) 12

(4) 15

Ans. (4)

11. सोवियत संघ के विघटन के बाद कौन-सा रूप देश एक महाशक्ति के में उभरा ? (Which country emerged as a super power after the disintegration of Soviet Union?)

(1) संयुक्त राज्य अमेरिका (United States of America)

(2) जर्मनी (Germany)

(3) ब्रिटेन (Britain)

(4) फ्रांस (France)

Ans. (I)

12. सोवियत संघ के अन्तिम राष्ट्रपति कौन थे? (Who was the last president of Soviet Union ?)

(1) बोरिस येल्तसिन (Boris Yeltsin) 

(2) खुश्चेव (Khrushchev)

(3) मिखाइल गोर्वाचिव (Mikhail Gorbachev)

(4) ब्रेझनेव (Brezhnev)

Ans. (3)

13. सितम्बर, 2001 में किस आतंकी संगठन ने अमेरिका पर हमला किया धा ? 

(1) आई. एस. S

(2) अल-कायदा

(3) हिजबुल मुजाहिदीन

(4) इनमें से कोई नहीं

Ans. (2)

14. कुवैत पर किस देश ने कब्जा कर लिया था ? (Which state had occupied Kuwait ?)

(1) ईरान (Iran)

(2) इराक (Iraq)

(3) पाकिस्तान (Pakistan)

(4) अफगानिस्तान (Afghanistan)

(4) सुत (Kirwanit)

Ans. (1)

15. भारत ने कब अपना पहला परमाणु परीक्षण किया था ? (When was India experimented its Nuclear Test ?)

(1) 2005

(2) 1976

(3) 1950

(4) 1974 

Ans. (4)

16. सद्दाम हुसैन निम्नलिखित में से किस देश का शासक था ? (Saddam Hussein was the ruler of which of the following contries ? )

(1) इरा (Iraq)

(2) अफगानिस्तान (Afghanistan)

(3) ईरान (Iran),

17. विश्व को इंटरनेट की सुविधा किस देश की देन है ? (Facility of internet to the world is the gift of which country ?)

(1) भारत (India)

(2) अमेरिका (America)

(3) चीन (China)

(4) जापान (Japan) 

Ans. (2) 

18. विश्व का कौन राष्ट्र अपने बजट का एक बड़ा हिस्सा रक्षा अनुसंधान और विकास के मद में खर्च करता है? (Which country of the world spends a huge part of its budget in military research and developemt)

(1) ब्रिटेन (Britain)

(2) भारत (India)

(3) चीन (China)

(4) अमेरिका (America) 

Ans. (4)

19. निम्न में कौन देश सोवियत संघ के गणराज्य मे ? (Which of the following countries were the repubilics of Soviet Union 7)

(1) यूरेन (Ukrain)

(2) बेलारूस (Belarus) 

(3) तुर्कमेनिस्तान (Turkmenistan) 

(4) इनमें से सभी (All of these) 

Ans. (4)

20. यूरोपीय संघ की स्थापना कब हुई ? (When was the Equropean Union established ?)

(1) 1968 

(2) 1957

(3) 1992

(4) 1967 

Ans. (3)

21. following is the member of ASEAN?) निम्नलिखित में कौन आसियान का सदस्य है ? 

(1) भारत (India)

(2) इंडोनेशिया (Indonesia)

(3) चीन (China)

(4) पाकिस्तान (Pakistan) 

Ans. (2)

22. साम्यवादी चीन का उदय कब हुआ ? (When did the rise of communist China take place ?)

(1) 1957 

(2) 1939 

(3) 1949

(4) 1849 

Ans. (3)

23. आसियान की स्थापना कब हुई है? (When is

ASEAN established ?) 

(1) 1985

(2) 1967 

(3) 1989 

(4) 1991 

Ans. (2)

24. भारत ने ‘पूरब की ओर देखो नीति’ कब अपनाया ? (When did India adopt the ‘Look East Policy ?”)

(1) 1991 

(2) 1967 

(3) 1985 

(4) 1981 

Ans. (1)

25. भारत का पहला उप-प्रधानमंत्री कौन थे ? (Who was the first Deputy Prime Minister of India ?)

(1) चन्द्रशेखर (Chandra Shekhar)

(2) सरदार बल्लभ भाई पटेल (Sardar Vallabhbhai Patel)

(3) लालकृष्ण आडवानी (Lal Krishna Advani)

(4) चौधरी चरण सिंह (Chaudhary Charan Singh) 

Ans. (2)

26. स्वतंत्रता के बाद भारतीय संघ में शामिल होने वाली अन्तिम देशी रियासत कौन थी ? (Which one of the following was the last Princely State to be integrated with Indian Union after independence?)

(1) जम्मू तथा कश्मीर (Jammu and Kashmir)

(2) बीकानेर (Bikaner)

(3) (Hyderabad) 

(4) (Junagarh) 

Ans. (3)

27. राज्य पुनर्गठन आयोग की स्थापना कब हुई ? (In which year was State Reoganisation Commission established?)

(1) 1957

(2) 1955

(3) 1953

(4) 1956 

Ans. (3)

28. 1952 से 1967 के बीच भारतीय राजनीति में किस पार्टी का वर्चस्व रहा? (Which political party in India had dominance in Indian politics from 1952 to 1967?)

(1) जनता दल (Janta Dal)

(2) भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party)

(3) जनता पार्टी (Janta Prty)

(4) कांग्रेस (Congress) 

Ans. (4)

29. हमारी नियोजन व्यवस्था किस विचारधारा पर आधारित है ? (On which concept is our planning syntem based ?)

(1) उदारवाद (Liberalism)

(2) साम्यवाद (Communism)

(3) लोकतान्त्रिक समाजवाद (Democratic Socialism)

(4) गाँधीवाद (Gandhism)

Ans. (3)

30. योजना आयोग को समाप्त कर कौन-सा आयोग बना ? (Which commission is started after the end of Planning Commission ?)

(1) नीति आयोग (NITI Aayog)

(2) वित्त आयोग (Finance Commission)

(3) राज्य वित्त आयोग (State Finance Commission)

(4) इनमें से कोई नहीं (None of these)

Ans. (1)

31. संविधान की किस अनुसूची में भारत की 22 भाषाओं का उल्लेख किया गया है ? (Which schedule of the Constitution mentions 22 Indian language ?)

(1) 7 वीं अनुसूची (7th Schedule)

(2) 8 वीं अनुसूची (8th Schedule)

(3) 6ठी अनुसूची (6th Schedule)

(4) 11 वीं अनुसूची (11th Schedule)

Ans. (2)

32. द्वितीय पंचवर्षीय योजना किसके द्वारा तैयार की गई थी ? (Who drafted the Second Five Year Plan ?)

(1) के. एन. राज (K. N. Raj) 

(2) अमर्त्य सेन (Amartya Sen)

(3) पी. सी. महलानोबिस (P. C. Mahalanobis).

(4) जे. सी. कुमारच्या (J. C. Kumarappa) 

Ans. (3)

33. किस पंचवर्षीय योजना में ‘गरीबी हटाओं’ को प्राथमिकता दी गयी

(1) छठी योजना 1980-85 (Sixth Plan 1980-85) 

(2) पहली योजना 1951-56 (First Plan 1951-56)

(3) तीसरी योजना 1961-66 (Third Plan 1961-66)

(4) पांचवी योजना 1974-79 (Fifth Plan 1974-79)

Ans. (4)

64. ‘कामराज योजना’ किस वर्ष प्रस्तावित की गयी थी ? (‘Kamraj Plan’ was proposed in the year)

(1)1965

(2) 1960

(3)1963

(4) 1961 

उत्तर. (3)

35. स्वतंत्र भारत का प्रथम शिक्षा मंत्री कौन थे ? (Who was the first Education Minister of independent India ?)

(1) बी. आर. अम्बेदकर (B. R. Ambedkar)

(2) मौलाना आजाद (Maulana Azad)

(3) गोविन्द बल्लभ पंत (Govind Ballabh Pant)

(4) डा. जाकिर हुसैन (Dr. Zakir Hussain)

उत्तर. (2)

36. ‘पंचशील समझौता पर हस्ताक्षर किन दो देशों के बीच हुआ ? (“Panchsheel Agreement’ was signed between which of the following two countries?)

(1) भारत और पाकिस्तान ( India & Pakistan)

(2) भारत और अमेरिका ( India & America)

(3) भारत और रूस ( India & Russia )

(4) भारत और चीन (India & China)

उत्तर. (4)

37. भारत के प्रथम गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री कौन थे ? (Who was the first non-Congress Prime Minister of India ?)

(1) मोरारजी देसाई (Morarji Desai)

(2) देवगौड़ा (Deve Gowda)

(3) चौधरी चरण सिंह (Choudhary Charan Singh)

(4) अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee)

उत्तर. (1)

38. किस भाषा के आधार पर 1953 में आन्ध्र प्रदेश राज्य का गठन किया गया था ? (On the basis of which language was the state of Andhra Pradesh created in 1953?)

(1) तमिल (Tamil)

(2) कन्नड (Kannada)

(3) तेलुगु (Telugu)

(4) मलयालम (Malyayalam)

उत्तर. (3)

39. भारत में हरित क्रान्ति के जनक कौन है ?

(1) यू. आर. राव (UR. Rao )

(2) एम. एस. स्वीमीनाथन (M.S. Swaminathan)

(3) वर्गीज कुरियन (Verghese Kurien)

(4) वी. जी. देशमुख (V. G. Deshmukh)

उत्तर. (2)

40. किस भारतीय राजनीतिक दल को ‘छतरी संगठन’ के रूप में जाना जाता है ? (Which Indian Political party is known as ‘Umbrella Organization’ ?)

(1) भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (Communist Party of India)

(2) भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party)

(3) कांग्रेस पार्टी (Congress Party)

(4) बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party)

उत्तर. (3)


‎‫GROUP – A खंड- ‘क


( अति लघु उत्तरीय प्रश्न ) ( Very short answer type questions)

1. दक्षेस के चार सदस्य देशों के नाम लिखें। (Write the names of four member countries of SAARC.)

Ans. दक्षेस के चार सदस्य देशों के नाम इस प्रकार हैं-

(i) भारत

(ii) पाकिस्तान

(iii) बांग्लादेश

(iv) नेपाल

2. ‘ऐमनेस्टी इंटरनेशनल’ क्या है ? (What is the ‘Amnesty International’ ?)

Ans. एमनेस्टी इंटरनेशनल एक स्वयंसेवी संस्था है जो सम्पूर्ण विश्व में मानवाधिकारों की रक्षा के लिए अभियान चलाया है। यह संगठन मानवाधिकारों से सम्बंधित रिपोर्ट तैयार और प्रकाशित करता है। उसकी रिपोर्ट से कई सरकारों की किरकिरी हो जाती है क्योंकि यह उनके दुर्व्यवहार की चर्चा करता है।

3. संयुक्त राष्ट्रसंघ के दो उद्देश्य बताइए। (Point out two objectives of the United Nations Organisation.)

Ans. संयुक्त राष्ट्रसंघ के दो उद्देश्य निम्नलिखित हैं-

(i) अंतराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा की स्थापना

(ii) विभिन्न राष्ट्रों के मध्य संबंध एवं सहयोग की वृद्धि करना ।

4. जयप्रकाश नारायण द्वारा शुरू की गई क्रान्ति का नाम बताइए। उस समय भारत का प्रधानमंत्री कौन था ? 

Ans. जयप्रकाश नारायण द्वारा शुरू की गई क्रांति का नाम संपूर्ण क्रांति था। उस समय भारत की प्रधान मंत्री इंदिरा गाँधी थी।

5. नर्मदा बचाओ आन्दोलन का नेतृत्व किसने किया था ? (Wholed the Narmada Bachao Andolan ?)

Ans. नर्मदा बचाव आन्दोलन का नेतृत्व मेधा पाटेकर ने किया था । 

6. उदारीकरण क्या है ? (What is Liberalisation ?)

Ans. उदारीकरण का अर्थ है अर्थव्यवस्था से प्रतिबंधों को समाप्त करके उसे और अधिक प्रतिस्पर्धात्मक स्वरूप प्रदान करना। उदाहरण के लिए नई आर्थिक नीति के फलस्वरूप निधी क्षेत्रों को और अधिक सुविधाएँ प्रदान की गयी हैं। इससे औद्योगिक क्रियाओं के संचालन में निजी क्षेत्र को अधिक स्वतंत्रता प्रदान किया गया है। इसके अंतर्गत निजी क्षेत्र को उन सभी नियमों एवं प्रतिबंधों से छूट दी जाती है जो उनके विकास में बाधा उत्पन्न करते हैं।

7. किस वर्ष तथा भारत के किस राज्य में ताड़ी विरोधी आन्दोलन शुरू हुआ था ? 

Ans. 1992 ई. में भारत के आंध्र प्रदेश राज्य में ताड़ी विरोधी आन्दोलन शुरू हुआ था।


GROUP B खंड- ‘ख’ (लघु उत्तरीय) 


18. ताशकन्द समझौता का वर्णन करें। (Describe the Tashkent) 

Ans. भारत और पाकिस्तान के बीच 1965 के युद्ध के पश्चात् रूस के ताशकंद शहर में एक संधि हुई जिसे ताशकंद समझेता कहा जाता है। यह समझीता सोवियत संघ के मध्यस्थता से हुआ था। इस समझौते पर भारत के प्रधानमंत्री श्री लालबहादुर शास्त्री तथा पाकिस्तान के राष्ट्रपति अयूब खाँ के हस्ताक्षर हुए और उसी 11 जनवरी, 1966 को लाल बहादुर शास्त्री का हृदय गति रुकने से निधन हो गया। 

इस समझोते के मुख्य विन्दु इस प्रकार है-

(i) दोनों देश संयुक्त राष्ट्र के चार्टर में आस्था रखते हुए शांतिपूर्ण ढंग अपने विवादों का समाधान करेंगे।

(ii) दोनों देश किसी के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करेंगे तथा से दुष्प्रचार को रोकेंगे।

(iii) दोनों देश युद्ध विराम की शर्तों का पालन करेंगे। 5 फरवरी, 1956 तक उनकी सेनाएँ 5 अगस्त, 1965 वाली स्थिति में लोट जायेगी।

(iv) दोनों देश युद्ध बंदियों को रिहा कर देंगे। (v) दोनों देश अपने सम्बन्धों को सुधारेंगे।

9. संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव के क्या कार्य हैं ? 

Ans. महासचिव की नियुक्ति सुरक्षा परिषद् की सिफारिश पर महासभा द्वारा 5 वर्षों के लिए की जाती है। वह सचिवालय का प्रधान होता है और संयुक्त राष्ट्रसंघ के सभी अंगों का महासचिव होता है। इस सियत से उसे अनेक कार्य करने पड़ते हैं जिनमें कुछ प्रमुख कार्य निम्नलिखित है-

(i) वह संयुक्त राष्ट्रसंघ के कर्मचारियों को नियुक्त करता है उनके वेतन, भत्ते, छुट्टी आदि के सम्बन्ध में नियम बनाता है।

(ii) वह अपने अधीनस्थ कर्मचारियों पर नियंत्रण रखता है।

(ii) वह संयुक्त राष्ट्रसंघ का आय-व्यय तैयार करता है। (iv) वह अपना वार्षिक प्रतिवेदन महासभा को प्रस्तुत करना है।

10. वैश्वीकरण के क्या लाभ हैं ? 

Ans. वैश्वीकरण के लाभ निम्नलिखित है-

1. आर्थिक वैश्वीकरण की प्रक्रियाओं के समर्थकों का कहना है कि इससे समृद्धि बढ़ती है और खुलेपन के कारण अधिक आबादी की मशहाला बढ़ती है। बेहतर करने का अवसर मिलता है।

2. इससे व्यापार का विकास होता है। फलस्वरूप प्रत्येक देश को अपने को 3. वैश्वीकरण के समर्थकों का कहना है कि आर्थिक वश्वीकरण अपरिहार्य है और इसको अवरुद्ध करना इतिहास के धारा को रोकना होगा।

4. समर्थकों का विचार है कि वैश्वीकरण ने चुनोतियों पेश की है पूरी बुद्धिमानी से इसका सामना किया जाना चाहिए।

5. वस्तुतः विभिन्न देशों और नागरिकों का विभिन्न जरूरतों के कारण पारस्परिक निर्भरता में वृद्धि हो रही है। ऐसे में वैश्वीकरण आवश्यक हो जाती है।

11. ‘प्रिवी पर्स से आप क्या समझते हैं ? (What do you mean by ‘Privy Purse’ ?)

Ans. प्रियी पर्स की पृष्ठभूमि और अर्थ- जब भारत को छोड़कर अंग्रेज गए और देश स्वतंत्र हुआ उस समय लगभग 565 रजवाड़े या देशी रियासतें थी। देशी रियासतों का विलय भारतीय संघ में करने से पहले सरकार ने यह आश्वासन दिया था कि रियासतों के तत्कालीन शासक परिवार को निश्चित मात्रा में निजी सम्पदा रखने का अधिकार होगा। साथ ही सरकार की तरफ से उन्हें कुछ विशेष भत्ते भी दिए जाएंगे। ये दोनों चीजें (यानी शासक की निजी सम्पदा और भत्ते इस बात को आधार मानकर तय की जाएँगी कि जिस राज्य का विलय किया जाना है उसका विस्तार, राजस्व और क्षमता कितनी है। इस व्यवस्था को ‘प्रिवी पर्स’ कहा गया।

प्रिवीपर्स की आलोचना-रियासतों के विलय के समय राजा-महाराजाओं को दी गई इस विशेष सुविधा की कुछ खास आलोचना नहीं हुई थी। उस वक्त देश की एकता, अखंडता का लक्ष्य ही प्रमुख था।

बहरहाल ये वंशानुगत विशेषाधिकार भारतीय संविधान में वर्णित समानता और सामाजिक-आर्थिक न्याय के सिद्धान्तों से मेल नहीं खाते थे। नेहरू ने कई बार इस व्यवस्था को लेकर अपना असंतोष जताया था।

1967 के आम चुनाव एवं प्रिवीपर्स 1967 के चुनावों के बाद इंदिरा गांधी ने ‘प्रिवीपर्स’ को खत्म करने की मांग का समर्थन किया। उनकी राय थी।

कि सरकार को ‘प्रियीपर्स की व्यवस्था समाप्त कर देनी चाहिए। मोरारजी देसाई प्रिवीपर्स की समाप्ति को नैतिक रूप से गलत मानते थे। उनका कहना था कि

यह ‘रियासतों के साथ विश्वासपात’ के बराबर होगा। इंदिरा सरकार और उच्चतम न्यायालय के दृष्टिकोण एवं प्रिवीपर्सा की समाप्ति प्रिवीपर्स की व्यवस्था को खत्म करने के लिए सरकार ने 1970 में संविधान में संशोधन के प्रयास किए, लेकिन राज्यसभा में यह मंजूरी नहीं पा सकी। इसके बाद सरकार ने एक अध्यादेश जारी किया, लेकिन इसे सर्वोच्च न्यायालय ने निरस्त कर दिया। 

इंदिरा गाँधी ने इसे 1971 के चुनावों में एक बड़ा मुद्दा बनाया और इस मुद्दे पर उन्हें जन समर्थन भी खूब मिला। 1971 में मिली भारी जीत के बाद संविधान में संशोधन हुआ और इस तरह प्रिवीपर्स की समाप्ति की राह में मौजूद कानूनी अड़चनें खत्म हो गई।

12. ‘गरीबी हटाओं’ की राजनीति की व्याख्या करें। 

Ans. भारत की सबसे सफल प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने गरीबी हटाओ की राजनीति का शुभारंभ किया। उन्होंने गरीबी हटाओ की नीति को अपनाकर जनता को सहानुभूति अर्जित की और इसके साथ हो वह गरीबों और दीन बंधुओं की मसीहा बन बैठीं। 

इस नीति का परिणाम यह हुआ कि जनता ने उन्हें सराहा और काफी लंबे समय तक देश की बागडोर उनके हाथों में सौंपी। इंदिरा गाँधी ने गरीबी हटाओ की राजनीति को अपनाकर अपने राजनैतिक गलियारों का रास्ता खोला और वह एक प्रसिद्ध प्रधानमंत्री के रूप में उभरकर सामने आई। इस राजनीति को अपनाकर उन्होंने देशभर में अपना नाम रौशन किया। साथ ही साथ

वह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी अपनी छवि बनाने में भी सफल हुई। इस राजनीति को अपनाकर उन्होंने भारत की राजनीति में अपनी एक अलग पहचान बनाई।

परिणामस्वरूप उन्होंने भारत की राजनीति में काफी लंबे समय तक राज किया।

13. दलित पँथर्स आन्दोलन किस राज्य में शुरू हुआ ? इसकी मुख्य मांगें क्या थी

Ans. दलित पेंचर्स आन्दोलन भारत के महाराष्ट्र राज्य में शुरू हुआ था।

इसकी मुख्य मांगे इस प्रकार थीं-

(i) जातिवाद का विरोध होना चाहिए।

(ii) संवैधानिक प्रावधानों को लागू होना चाहिए।

(iii) दलित महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों को रोकना चाहिए। (iv) सामाजिक भेदभाव को समाप्त करना चाहिए।

(v) दलितो हो रहे औद्योगिक मजदूर व अन्य कमजोर वर्गों का एक मजबूत संगठन बनाना चाहिए।

(vi) भूमिहीन गरीब किसानों के हितों की रक्षा करना चाहिए। 

(vii) राजनीतिक दलों को दलितों के साथ जोड़ना चाहिए।

(viii) आरक्षण की नीतियों व सामाजिक न्याय से सम्बन्धित कानूनों को लागू करना चाहिए।

14. महिला सशक्तीकरण से सम्बन्धित किसी एक आन्दोलन की विवेचना कीजिए।

Ans. ताड़ी आन्दोलन महिला सशक्तिकरण का एक ज्यतेत उदाहरण है। इसका प्रारम्भ आन्ध्र प्रदेश के चित्तूर जिले के कलिनारी मंडल स्थित ग्राम हर से हुआ। यहाँ की महिलाओं ने ग्राम में पुरुषों में ताड़ी के नशे की बढ़ती तत के खिलाफ आवाज बुलंद किया। इस आंदोलन के तहत महिलाओं ने साड़ी के नशे व शराब के नशे में पुरुषों व परिवार पर पड़ने वाले बुरे प्रभाव के साथ ही अन्य कई महत्त्वपूर्ण मुद्दों को उठाया। 

ग्राम की महिलाएँ इकट्ठा होकर अपनी आवाज ताड़ी व शराब की बिक्री करने वालों तक पहुंचायी और बाद में अपनी माँगों को व अपनी दशा को पुलिस प्रशासन तथा सरकार को अवगत कराया जिसके परिणामस्वरूप सरकार को इस दिशा में सख्त कदम उठाने पड़े। इन आंदोलनकारियों का मुख्य माँग ताड़ी व शराब की बिक्री पर पूर्ण पाबंदी लगाना था। प्रेस के सहयोग से इस आंदोलन का काफी प्रचार हुआ। यह आंदोलन केवल महिलाओं

से जुड़े इन मुद्दों तक ही सीमित ना रहा बल्कि इस आंदोलन में समाज की अन्य सभी समस्याओं को भी शामिल किया गया। परिणामस्वरूप इस आंदोलन से लोगों में सामाजिक समस्याओं के प्रति जागरूकता भी बढ़ी। इससे लिंग समानता, महिलाओं का आर्थिक, सामाजिक व मनोवैज्ञानिक शोषण महिलाओं के प्रति हिंसा जैसे मुद्दों को सरकार की और से प्राथमिकता का स्थान मिला।


GROUP C खंड-ग


(दीर्घ उत्तरीय प्रश्न) (Long answer type questions)

15. सुरक्षा परिषद के संगठन एवं कार्यों का वर्णन करें। (Describe the structure and functions of the Security Council.) 

Ans. सुरक्षा परिषद् संयुक्त राष्ट्र का सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण तथा शक्तिशाली अंग है। यही वह अंग है जिसके पास संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख उद्देश्य विश्वशांति को बनाए रखने का उत्तरदायित्व है और उसी के अनुरूप इसे शक्तियों भी प्रदान की गई है। जय संयुक्त राष्ट्र को स्थापना हुई थी तो उस समय इसके सदस्यों की संख्या 5+6= 11 थी अर्थात् 5 स्थायी सदस्य तथा 6 अस्थायी सदस्य । 

1965 में अस्थायी सदस्यों की संख्या बढ़ाकर 10 कर दी गई। ये दस सदस्य महासभा के द्वारा दो वर्ष के लिए चुने जाते हैं। इन दस सदस्यों में से भी क्षेत्रीय प्रतिनिधित्व को सुनिश्चित करने के लिए 5 सदस्य एशियाई अफ्रीकी देशों में से, 2 सदस्य अमेरिकन देशों में से और एक सदस्य अन्य राज्यों में से चुना जाता है। यह भी व्यवस्था है कि कोई देश लगातार दूसरी बार इसका सदस्य नहीं चुना जा सकता। भारत कई बार इसका सदस्य चुना जा चुका है। 

सुरक्षा परिषद के कार्य निम्नलिखित हैं-

1. यह विश्व में शांति स्थापित करने के लिए उत्तरदायी है और किसी भी मामले पर जो विश्व शांति के लिए खतरा बना हुआ हो विचार कर सकती है। 

2. यह किसी भी देश द्वारा भेजी गई किसी भी शिकायत पर विचार करती है और उस मामले या झगड़े का निर्णय करती है।

3. सुरक्षा परिषद् अपने प्रस्तावों या निर्णयों को लागू करवाने के लिए सैनिक कार्यवाही भी कर सकती है। इराक के विरुद्ध सैनिक कार्यवाही का निर्णय सुरक्षा परिषद् ने लिया था। 

4. यह महासभा के साथ मिलकर अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के जजों की नियुक्ति भी करती है।

16. भूटान के विकास में भारत की भूमिका का वर्णन करें। (Describe the role of India in the development of Bhutan.)

Ans. 1949 ई. में स्वतंत्र भारत की सरकार और भूटान के बीच एक संधि हुई थी जिसके द्वारा दोनों देशों द्वारा स्थायी शांति एवं मित्रता को सुनिश्चित करने का आश्वासन दिया गया था और भारत ने भूटान के आंतरिक मामलों में हस्ताक्षेप न करने का वचन भी दिया गया था। इस संधि को दार्जिलिंग संधि भी कहा गया है। कुछ समय के बाद इस संधि की धारा 2 और 6 में संशोधन किया गया था।

समय की बदलती परिस्थिति के अनुसार भूटान के विकास में भारत की महत्वपूर्ण भूमिका रही। वर्तमान समय की मोदी सरकार ने भी भूटान के विकास में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है। इस सिलसिले में अर्थिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक गतिविधियों तथा तकनीकी विकास में भारत ने भूटान को अपना सहयोग दिया है।

17. किन कारणों से भारत में 1980 में मध्यावधि चुनाव करवाना पड़ा ? व्याख्या करें। 

Ans. आपातकाल की स्थिति 1977 में समाप्त हुई थ 1981 में संसदीय चुनाव किये गये। इस चुनाव में काँग्रेस के खिलाफ प्रमुख विरोधी दलों ने मिलकर जनता पार्टी का गठन किया जिसे बाबू जयप्रकाश नारायण व आचार्य कृपलानी का आशीर्वाद प्राप्त था। इनमें प्रमुख दल सोशलिस्ट पार्टी, भारतीय जनसंघ, काँग्रेस ओल्ड व भारतीय लोकदल थे। बाद में जगजीवन राम की काँग्रेस फॉर डेमोक्रेसी भी जनता पार्टी में शामिल हो गयी। ये सभी दल आपातकालीन समय में विरोधी दल थे तथा इनके प्रमुख नेता जेल में बंद थे। 

प्रमुख चुनाव में जनता पार्टी को भारी सफलता मिली, परन्तु 351 सीटों के बावजूद यह सरकार केवल 18 महीने ही चल पायी क्योंकि प्रधानमंत्री के पद पर ही झगड़ा हो गया जिसके कारण मोरारजी भाई देसाई को प्रधानमंत्री बनाना पड़ा। जनता पार्टी में इतने अधिक आन्तरिक मतभेद थे कि एक पार्टी के रूप में ये कार्य नहीं कर सके एवं 18 महीने बाद सरकार गिर गई तथा जनता पार्टी के कई हिस्सों में विभाजन हो गया ।

जनता पार्टी की सरकार गिरने के बाद चौधरी चरण सिंह ने काँग्रेस के बाहरी समर्थन से केन्द्र में सरकार बनाई, परन्तु चार महीने याद काँग्रेस के द्वारा समर्थन वापस लेने के कारण चौधरी चरण सिंह ने लोकसभा को भंग करके नये चुनाव कराने की सिफारिश की जिसके तत्कालीन राष्ट्रपति श्री एन. संजीवा रेड्डी ने स्वीकार कर लिया। इस प्रकार से 1980 में चुनाव आवश्यक हुए।

18. चिपको आन्दोलन क्या है ? इस आन्दोलन की उपलब्धियों पर प्रकाश डालें। 

Ans. 1973 में पेड़ों को बचाने के लिए सामूहिक कार्यवाही के एक असाधारण घटना ने वर्तमान उत्तराखंड राज्य के स्त्री-पुरुषों की एकजुटता ने वनों की व्यावसायिक कटाई का घोर विरोध किया। इस विरोध का मूल कारण था कि सरकार ने जंगलों की कटाई के लिए अनुमति दी थी। गाँव के लोगों ने अपने विरोध को जताने के लिए एक नयी तरकीब अपनायी। इन लोगों ने पेड़ों को अपनी बाँहों में घेर लिया ताकि उन्हें कटने से बचाया जा सके। 

यह विरोध आगामी दिनों में भारत के पर्यावरण आन्दोलन के रूप में परिणत हुआ और ‘चिपको आन्दोलन’ के नाम से विश्व प्रसिद्ध हुआ। चिपको आन्दोलन की प्रमुख उपलब्धि जंगलों के पेड़ पौधों की कटाई को रोकना था। साथ ही पर्यावरण को स्वच्छ बनाए रखना था। पर्यावरण प्रदूषण की समस्या का समाधान करना भी चिपको आन्दोलन की प्रमुख उपलब्धि है।

19. गठबन्धन राजनीति में क्षेत्रीय राजनीतिक दलों की भूमिका में कैसे वृद्धि हुई? उदाहरण दें।

Ans. 1980 के बाद भारत में क्षेत्रीय दलों की भूमिका बढ़ने लगी। इससे पहले बहुदलीय प्रणाली होते हुए भी कॉंग्रेस का प्रभुत्व रहा। कुछ राष्ट्रीय दल रहे परन्तु उनकी स्थिति कॉंग्रेस के सामने कमजोर ही रही। 1950 से लेकर 1980 तक के काल में कॉंग्रेस का प्रभुत्व रहा। 1980 के दशक के बाद विभिन्न कारणों से क्षेत्रवाद का विकास हुआ जिसके आधार पर क्षेत्रीय दलों का गठन किया गया। इन क्षेत्रीय दलों की संख्या विभिन्न कारणों से लगातार बढ़ती ही रही। 1990 के दशक में राष्ट्रीय दल क्षेत्रीय दलों के सामने बौने पड़ गये।

1990 के दशक में अटल बिहारी वाजपेयी, चन्द्रशेखर सिंह, एच.डी. देवगौड़ा और पी. वी. नरसिंह राव जब प्रधानमंत्री बने तो इन्होंने गठबंधन सरकारें बनाई थीं। झारखण्ड मुक्ति मोर्चा जैसे क्षेत्रीय दल के समर्थन से केन्द्र में काँग्रेस ने सरकार बनाई। इसी प्रकार दक्षिण में तमिलनाडु में अन्ना द्रमुक, आंध्र प्रदेश में तेलुगु देशम पार्टी, पंजाब में अकाली दल, कश्मीर में नेशनल कॉन्फ्रेन्स, बिहार में जनता दल यूनाइटेड और राष्ट्रीय जनता दल आदि क्षेत्रीय दलों के रूप में उभरकर गठबंधन सरकारें बनाई।

इस प्रकार क्षेत्रीय दलों ने न केवल अपने राज्यों में सरकारें बनायीं बल्कि केन्द्र में भी सरकार बनाने व चलाने में अहम भूमिका निभायी। गठबंधन की राजनीति में राष्ट्रीय दलों का महत्त्व कम हुआ और इसके स्थान पर क्षेत्रीय दलों की उपयोगिता बढ़ गई। निम्न मुद्दे ऐसे रहे जिन्होंने समाज को विभाजित किया जिसके आधार पर लोगों के राजनीतिक व्यवहार में परिवर्तन हुआ व क्षेत्रीय दलों की संख्या में वृद्धि हुई। ये मुद्दे थे-

(i) आरक्षण, (ii) मंदिर-मस्जिद विवाद (बाबरी मस्जिद व राम मंदिर), (iii) पिछड़े वर्ग की राजनीति, (iv) महिला राजनीति (v) अल्पसंख्यको की राजनीति, (vi) आदिवासी राजनीति, (vii) दलित राजनीति, (viii) क्षेत्रवाद इत्यादि।



Leave a Comment